ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन तकनीक द्वारा सिर के बालों के गिरने से पैदा गन्जापन का आयुर्वेदिक मौलिक सिद्धान्तों के द्रूष्टिकोण का पुष्टिकरण ; Confirmation about the trueness of Ayurvedic Fundamentals in BALDNESS Cases based on the studies of ETG AyurvedaScan

आयुर्वेद के मौलिक सिध्धन्त शाश्वत है और यह सिध्धान्त जिनका प्रतिपादन आयुर्वेद की चिकित्सा व्यवस्था के लिये किया गया है आदि काल में भी सत्य थे, आज भी है और आगे भी रहेन्गे /

ETG AyurvedaScan maps and scans of the area of KAPHA DOSHA always shows the Normal configeration of traces r

ETG AyurvedaScan maps and scans of the area of KAPHA DOSHA always shows the Normal configeration of traces r

मैने और मेरे सहयोगी टीम के सदस्य हकीम मोहम्मद शरीफ अन्सारी जी ने ऐसे बहुत से रोगियों का समय बध्ध होकर आबजर्वेशन किया है, जिनके सिर के बाल नदारत होकर गन्जे हो गये थे और उनमें तरह तरह की बनावटॆ पैदा हो गयी थी /

Circulation towards head is an abnormal condition according to ETG AyurvedaScan , which means problems related to MENTAL, INTERNAL BRAIN, EXTERNAL HEAD, EMOTIONAL and PSYCHOLOGICAL DISORDERS etc

Circulation towards head is an abnormal condition according to ETG AyurvedaScan , which means problems related to MENTAL, INTERNAL BRAIN, EXTERNAL HEAD, EMOTIONAL and PSYCHOLOGICAL DISORDERS etc

हमने ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन डाटा आधारित निदान्ग्यानात्मक आबजरवेशन में निम्न बातें पायी हैं ;

१- गन्जापन उन्ही रोगियों में देखने को मिला है जिनको यह निदान किया गया कि उनको Circulation towards Head की तकलीफ है /
२- यह उन रोगियों में कम देखने को मिला जिनका Circulation सामान्य रहा और पैरों की तरफ रहा है /
३- जो रोगी “पित्त” दोष से affected रहे , उनको माथे की ओर यानी फ्रन्टल रीजन से लेकर दोनों कानों की सिर की ओर मिलाती हुयी मिडिल लाइन तक “गन्जापन” की शिकायत रही /
४- जो रोगी ” कफ” दोश से affected रहे , उनको “गन्जापन” सिर के पिछले हिस्से, जिसे चान्द भी कहते है, में देखने को मिला /
५- जो रोगी “वात ” दोष से affected रहे , उनको Forehead के ऊपर बाल एक गुच्छे के रूप में मौजूद रहे हैं / यह बालों के गुच्छे वात दोष की intemsity  की उपस्तिथि के अनुसार साइज में छोटी अथवा बड़ी दिखाई देती है /

BALDNESS areas shown in the sketch for easy understading. Diagnosis of disorders either physical or mental becomes easy  in view of treatment and also for studies and confirmation of PRAKRUTI, TRIDOSHA, TRIDOSHA BHED , SAPTA DHATU  and many other features

BALDNESS areas shown in the sketch for easy understading. Diagnosis of disorders either physical or mental becomes easy in view of treatment and also for studies and confirmation of PRAKRUTI, TRIDOSHA, TRIDOSHA BHED , SAPTA DHATU and many other features

६- भ्राजक पित्त जो पान्च पित्त के भेदों मे से एक है , ऐसे रोगियों मे हमेशा कम इन्टेन्सिटी लेवल पर पाया गया है , यह लेवल २० या ३५  ई०वी० के दर्मियान पाया गया है /

७- स्नेहन कफ , जो कफ दोश का एक भेद है , वह भी बहुत अधिक इन्ट्न्सिटी में पया गया है /

८- व्य़ान वायु , जो बात दोष का एक भेद है, सामान्य से अधिक अवस्था में पाया जाता है /

८- अस्थि धातु, जो सप्त धातुओं में से एक धातु भेद है,  का इन्टेन्सिटी लेवल बहुत हाई लेवल पर पाया गया है /

सारे डाटा लेकर जब ऐसे रोगियों का इलाज किया गया तो उनको गन्जेपन की अवस्था में अवश्य आराम मिला /

हम इस दिशा में और अधिक रिसर्च कार्य कर रहे हैं , ताकि आयुर्वेद के दृष्टिकोण से र ई०टी०जी० आयुर्वेदस्कैन आधारित डाटा के सम्मिलित सहयोग से  Baldness के इलाज में अपेक्षित सफलता मिल सके /