दिन: अक्टूबर 15, 2008

चिकित्सा विग्यान के देवता भगवान धनवन्तरि देव जी


चिकित्सा विग्यान के देवता भगवान धनवन्तरि देव जी का जनम दिन धन्तेरस वाले दिन होता है. सभी वैद्य समाज के लोग इस दिन धन्वनतरि देव की पूजा अर्चना बडे भक्ति भाव से करते है. इन्हे देवी लछ्मी का बडा भाई माना जाता है

ऐसी मान्यता है की धनवन्तरि देव कि लगातार और रोजाना पूजा करने सॆ मानसिक और शारिरिक रोगो से बचाव होता है, इसलिये वैद्य लोग इनसे प्रार्थना करते है कि उन्हे दवाये और चिकित्सा कार्य मे सफ़लता देने के लिये , वे इन पर क्रपा करे और आशीर्वाद दे .

इनके मन्त्र इस प्रकर है :

 

नमामि धन्वन्तरिमादिदेवम, सुरासुरैर वन्दित पाद पद्ममम

लोके जरा रुग्भय म्रत्यु नाशम, दातारिमीशम विविधौशधीनाम”

सभी आगन्तुकॊं से निवेदन है कि अधिक से अधिक सन्ख्या में “पॊल” में अवश्य हिस्सा लें /

Advertisements