इलेक्ट्रो त्रिदोष ग्राफी की विकास यात्रा वृतान्त : दुसरा चरण


copyayushnif

यह दिसम्बर २००४ के आखिरी हफ़्ते की बात है । मैं सुबह ९:३० बजे आयुष विभाग, स्वास्थय मन्त्रालय, नई दिल्ली , जो रेड क्रास बिल्डिंग, रेड क्रास रोड, संसद भवन के सामने, गेट नम्बर तीन और चार के बीच को जोड़ने वाली सड़क पर स्तिथि है, पहुंच गया । मेरे साथ में मेरा बेटा डा० अनुराग बन्धु बाजपेयी भी था । आयुष विभाग के कुछ अफ़सरो ने मुझे डिप्टी एडवाइजर डा० डी० सी० कटोच के कमरे में बैठा दिया । कुछ देर बैठने के बाद लगभग १०:३० बजे चपरासी ने बताया कि आपको डा० एस०के० शर्मा जी ने मिलने के लिये बुलाया है । डा० एस०के० शर्मा जी, भारत सरकार के आयुर्वेद के सलाह्कार Ayurveda Adviser, Government of India हैं । चपरासी के साथ मैं तुरन्त उठकर चल पड़ा । मै डा० शर्मा के सामने बैठा, उनसे अभिवादन किया । थोड़ी देर बाद, बातचीत का सिल्सिला शुरु हुआ ।कुछ देर बाद चार बड़े अधिकारी वहां और आ गये । फिर जबर्दस्त सवाल जवाब का सिल्सिला शुरू हुआ । मेरी जगह कोई और होता तो सवालों की बौछार सुनकर घबरा जाता और तुरन्त ही वहां से भाग खड़ा होता । लेकिन मै उन अफ़सरों के हर सवाल का जवाब देता जा रहा था । यह कोई डेढ घन्टा तक चलता रहा । मेरे तर्क और उनके हर सवाल का जवाब देने से अधिकारी कुछ सन्तुष्ट नज़र आये । उन्होंने बहुत थोड़े अन्श में स्वीकार किया कि इस तकनीक में कुछ दम लगती है ।

कुछ देर बाद डा० शर्मा जी ने कहा कि डा० बाजपेयी , अपरान्ह ३:३० बजे आपको एक प्रेजेन्टेशन देना है, जिसकी तैयारी कर लें ।

मुझे पता चला कि आज के दिन मैं भारत सरकार का Guest हुं ।

drdbbajpaitrace-with-record-and-machine

डा० देश बन्धु बाजपेयी ई०टी०जी० मशीन से रेकार्ड किये गये कागज की पट्टी को दिखाते हुये प्रसन्न मुद्रा में, साथ में ई०टी०जी० मशीन

अपरान्ह ३:३० बजे मुझे कमेटी हाल में बैठा दिया गया । यहां डा० एस०के० शर्मा जी, डा० डी०सी० कटोच,डिप्टी एड्वाइजर, डा० जी०एस० लावेकर, डाइरेक्टर, केन्द्रीय आयुर्वेद एवं सिद्ध अनुसन्धान परिषद, डा० बनवारी लाल गौड़, पूर्व डाइरेक्टर और प्रधानाचार्य, National Institute of Ayurveda, Jaipur और अब कुलपति, राजस्थान आयुर्वेद विश्वविद्यालय, क्रिया शारीर के head of department, NIA, Jaipur , डा० डी०एम० त्रिपाठी, मेडिकल अफ़सर, दिल्ली सरकार के अलावा National Physical Laboratory, AIIMS All India Institute of Medical Sciences,  NRDC National Research Development Corporation , ICMR, Indian Council of Medical  Research, CSIR Council for Scientific and Industrial Researchके अलावा कुछ अन्य वैज्ञानिक सन्सथानों के एक्स्पर्ट experts वहां उपस्तिथि थे । लगभग 18 experts वहां मौजूद थे ।

 

मैने अपना presentation दिया । इसके बाद सवाल जवाब का सिल्सिला शुरू हुआ, जो रात ६:३० बजे से अधिक समय तक चला । इतना भीषण Interview मैने अपने जीवन काल में तो कभी नहीं दिया होगा । बाद में वहां मौजूद बहुत से अधिकारियों नें अपना E.T.G. परीक्षण कराया ।

कुछ भी हो, यह मेरे लिये गर्व की बात है कि मैने भारत सरकार के स्वास्थय एवं परिवार कल्याण मन्त्रालय के अधिकारियों का ई०टी०जी० परीक्षण उसी कमेटी हाल में किया , जहां भारत सरकार के स्वास्थय मन्त्री बैठकर अधिकारियों से मन्त्रणा करते हैं । एक बात और, मै इस presentation के दर्मियान उसी कुर्सी पर बैठा हुआ था, जहां हमारे वर्तमान स्वास्थय मन्त्री डा० राम दौस अधिकारियों से विचार विमर्श के लिये बैठते हैं ।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s