डेन्गू, वाइरल बुखार, इन्फेक्सन, इन्फ़ेक्टिव स्वास्थय समबन्धित शारीरिक समस्यायें


पिछले ४५ साल से अधिक हो चुके है, मै हर साल बरसात के दिनों में यानी जुलायी माह से लेकर दीपावली तक, इन्फ़ेक्सन से प्रभावित मरीजो का इलाज करता चला आ रहा हू / कभी यह मलेरिया की शक्ल मे होता है, कभी यह डेन्गू का चेहरा पहन लेता है, कभी यह कन्जन्क्टीवाइटिस की शकल अख्तियार कर लेता है, कभी मेनिन्जाइटिस का रूप धर लेता है, कभी यह इन्फ़ेक्टिव या वाइरल हिपेटाइटिस बन जाता है, कभी यह डायरिया बन जाता है /

वाइरस जो ठहरा , थोडा मूडी है, इसलिये यह अपने मूड के हिसाब से अपना चोला भी बदल देता है / नाक में अगर अड्डा बनाया तो साइनुसाइटिस पैदा कर दी या इन्फ़्लुएन्ज़ा जैसे लक्षण दिखा दिये / दिमाग मे अड्डा बनाया तो मेनिन्जाइटिस के रूप पैदा किये / पेट मे हमला बोला तो डायरिया या हिपेटाइटिस या कोलायटिस / खून के भीतर घुसा तो वाइरल बुखार पैदा कर दिया /

यानी कहने का मतलब यह कि जरासीन है , आदमी मिला, उसके भीतर घुसे, क्मजोर पुर्जा देखा, बस वही अड्डा जमा लिया और लगे बढाने अपनी ताकत / हर सेकन्ड मे दूना जो होते है , यही इनकी सबसे बड़ी शरारत और फ़ितरत है /

मरता क्या न करता, इन्सान के पास अब चारा क्या बचा, जब उसे तकलीफ होने लगी ?

लीजिये, तकलीफ का इलाज बता रहा हू / मै पिछले ४५ साल से इन्फ़ेक्सन की तकलीफॊ मे नीचे लिखा होम्योपैथी का फार्मूला आजमा रहा हू और कभी भी फेल नही हुआ / आप भी आज्माइये /

CHIRAYATA Q
KALMEGH Q
TINOSPORA CARDIFOLIA Q
AZADIRACHTA INDICA Q
CEASALPEANIA BONDUSELA Q

यह पाच दवाये बराबर बराबर क्वान्टिटी मे ले और एक साथ मिलाकर मिक्सचर बना ले / इस मि्श्रण का एक चम्मच चार चम्मच पानी में मिलाकर ३ या ४ घन्टे के अन्तर से देना चाहिये /

अगर तकलीफ या इन्फ़ेक्सन का जोर ज्याद लगे तो इस मिश्रण में ECHINESIA Q की ५ से १० बून्द अलग से मिला ले /

उक्त मिश्रण सभी तरह के वाइरस, बैक्टीरिया, फन्गस या पैरासाइटिक इन्फ़ेक्सन को अवश्य ठीक कर देती है /

यह तो हुयी होम्योपैथी की बात, अब लीजिये आयुर्वेद का फार्मूला /

महा सुदर्शन घन वटी १ गोली
महा ज्वरान्कुश रस १ गोली
आनन्द भैरव रस १ गोली
मृत्युन्जय रस १ गोली

इन चारों गोलियों को अदरख और तुलसी की पत्तियों की चाय के साथ देना चाहिये / अगर चाय न पसन्द करे तो गुन्गुने पानी से दवा लेना चाहिये / सामान्य चाय के साथ भी ले सकते है / ३ या ४ घन्टे के अन्तर से दवा की मात्रा दें / एक दो दिन में बुखार या इन्फ़ेक्सन ठीक हो जाता है / अगर इसके साथ पतले दस्त आ रहे हों तो इसके साथ एक या दो कुटज घन वटी मिलाकर दें /

मै हर वर्ष यही फार्मूला उपयोग करता हू, इस साल भी वर्तमान में यही फार्मूला आजमा रहा हू / इसमे मुझे शत प्रतिशत सफ़लता मिली है / सब लोग इसे आजमा कर देखे /

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s