दर्द से राहत और आराम और आरोग्य देने वाली चाय / हर्बल टी ; दर्द चाहे कैसा भी हो ?


मै इस ब्लाग के पाठकों को हमेशा चिकित्सा विग्यान के बारे में निहायत ईमान्दारी से अपने अनुभव और आब्जर्वेशन से जो भी ग्यान प्राप्त होता है, उसे ही बताने का प्रयास करता हू / मै वही बताता हू , जो कड़े परीक्षण के उपरान्त अनुभव प्राप्त होते है /

दर्द से राहत और आराम के लिये ज्यादातर लोग एलोपैथी की दर्द निवारक या दर्द दूर करने वाली दवाओं का सेवन करते रहते है / इन सभी दर्द निवारक दवाओं के बारे मे कई पिछले ब्लाग-पोस्ट में बता चुका हूं /

इस ब्लाग पोस्ट में मै आप सभी को एक दर्द निवारक चाय के बारे मे बता रहा हू जिसके पीने से [१] सभी तरह के दर्द में आराम मिल जाती है [२] दर्द दूर होने के साथ साथ मूल रोग में भी आरोग्य प्राप्त होता है / [३] दर्द जल्दी जल्दी वापस नहीं होता है [४] दर्द में स्थायी फायदा हो जाता है और फिर जब तक similar circumstances न हों, तब तक तकलीफ दुबारा नही आती /

मुझे कई दशक पहले cervical spondylitis, arthritis, musculo-skeletal से सम्बन्धित तकलीफें हुयी थी / जब यह तकलीफें होती थी तो मै homoeopathy या ayurved की दवा खाता था जिससे दर्द में आरम मिल जाती थी / ” दवा मलो और काम पर चलो” वाला हाल था / धीरे धीरे मुझे अधिक दर्द होने लगा और कभी कभी इतना तज दर्द होता कि न तो आयुर्वेदिक दवा काम करती और न होम्योपैथी की, जब तेज दर्द से राहत न मिले तो मै एक खुराक Pain killers की खा लेता था, जिससे कुछ मिनटॊ मे आराम मिल जाती थी /

थोड़े दिनों बाद यह हाल हो गया कि आयुर्वेद की और होम्योपैथी कि दवायें दर्द दूर करने में नाकाम साबित होने लगी और मुझे फिर और घूम फिर कर फिर pain killers लेने पड़ जाते / धीरे धीरे मुझे अनुभव हुआ कि मेरा काम बिना पेन किलर्स के नही चलने वाला है / मुझे जल्दी जल्दी पेन किलर्स खाने की आदत पड़ गयी / प्रैक्टिस और अनुसन्धान का कार्य बाधित न हो इसलिये मुझे यह सब करना पड़ रहा था /

एक दिन मैने विचार किया कि यह सब ठीक नहीं है, क्योन्कि पेन किलर्स लेने से लीवर और गुर्दे तथा हृदय रोग होने की सम्भावना बनी रहती है, इसलिये बेहतर यही होगा कि दर्द दूर करने के लिये कोई दुसरा सुरक्षित रास्ता निकाला जाय /

मैने आयुर्वेद के कई फार्मूलों पर विचार किया / मुझे व्यक्तिगत तौर पर अपने स्वयम के प्रयोग के लिये आयुर्वेदिक औषधियॊं में क्वाथ और आसव बहुत पसन्द है / यह मेरी पहली च्वाइस होती है / इसलिये मैने विचार किया कि क्वाथ ज्यादा ठीक होगा, इसलिये ग्रन्थो मे क्वाथ को ढून्ढना शुरू किया / मुझे लगा कि “दश्मूल क्वाथ” से कुछ बेहतर रिजल्ट मिल सकते है / मैने दशमूल कवाथ का प्रयोग करना शुरू किया / इससे कुछ लाभ मिला लेकिन मुझे लगा कि इसमे कुछ कमियां है / मैने विचार किया कि , यदि इसी फार्मूले मे अन्य दर्द निवारक दवाये मिला दी जायें तो शायद और बेहतर रिजल्ट मिले / मैने इसमें “रास्ना” एक हिस्सा मिला दिया / इसके बाद भी मुझे सन्तोष नही हुआ और इसमे एक भाग “निर्गुन्डी” मिला दी /

मेरा क्वाथ बनाने का तरीका आयुर्वेद मे बताये गये तरीके से बिल्कुल अलग है / मै एक या दो चम्मच उक्त जड़ी बूटीयों का मॊटा दरदरा चूर्ण लेता हू / एक कप पानी मे यह दरदरा चूर्ण डालकर एक उबाल तक गरम करता हूं / फिर इसमें कभी मै शक्कर या बिना शक्कर के गुन्गुना छानकर पी लेता हू /

शुरु शुरू में जब मुझे ज्यादा दर्द रहने लगा तब मै इसका काढा बनाकर दिन मे तीन चार बार पीने लगा / इससे मुझे बहुत राहत मिली और मेरा दर्द दूर होकर सामान्य अवस्था में आ गया / मेरा गले में कालर लगाना छूट गया और इस कालर को गले में बान्धने से जो परेशानी पैदा हो रही थी उससे छुटकारा मिल गया / मै अपने घर की सीढियां नही चढ पाता था तथा घुटनों मे बहुत दर्द होता था, वह सब दूर हो गया /

यह अनुभव प्राप्त करके मैने इसी क्वाथ को अपने मरीजों को देना शुरू किया जिनको इसी तरह की तकलीफे थी / मुझे यह देखकर बहुत खुशी हुयी कि सभी मरीजों को इससे लाभ हुआ / मै इस फार्मूले को अभी भी अपनी प्रक्टिस में उपयोग करता हू /

बहुत से मरीजों ने बताया कि उन्होने अन्य कई दूसरी बीमारियों में इस क्वाथ का उपयोग किया है, जिनसे उनको आरोग्य प्राप्त हुआ है / मै इस्का डाटा सन्कलित कर रहा हूं और उपयुक्त समय पर बताने का प्रयास करून्गा /

Advertisements

5 टिप्पणियाँ

  1. motapan honepan ke dawa bataye

    ………..reply by Dr DBBajpai………..SHATAVARI CHURN ek se teen gram tak rojana subah sham Dudh ke saath le aur bramhcharya se rahe to aap mote ho jayenge

    isaka dusara tarika yah hai ki aap pahale apana ek ETG AyurvedaScan parikashan karaye aur baad me ilaj karayein to avashya phayada hoga

  2. mene aapka lakh pada bahut acha laga muje.meri lumber vert.4 – 5 reduced hai iss vajah muje sardiya mai dard hota hai .koi upchar bataiye

    ………..reply by Dr DBBajpai………..shukria dr rafik, apki takalif thik ho jayegi yadi aap ayurvedik ilaj karenge, apaka dard bhi dur ho jayega aur dusari takalife bhi kafi kam ho jayengi, lekin isake liye aap apane najadik ke kisi ayurvedik doctor se salah lekar ilaj karaye

    lambe samay tak dava leni padegi aur ahiste ahiste aapako aram milega

    yadi ETG AyurvedaScan ki janch karakar ilaj karayenge to ayurved ka ilaj bila shak sahi aur satik hoga

  3. sir,apka jabab mila .apne itne kimti samay mai b mere liye s
    amay nikala muje bahut acha laga .mai apko ye batana chahta hun ki mai saway ayush (aurved) doc. Hun aur meri lumber vert. Mai ye taklif do sal se hai . Mai apka dasmool kada aadi bataye anusar le rraha hun.mai ye chahta hun ki iske alawa koi aur treatment hai to plz bataiye.

    ………..reply by Dr DBBajpai………..aap ayurved ke chikitsak hai, yah janakar khusi huyi, apako jyada kayaa batalane ki jarurat hai aap svayam hi ayurved ke bare me adhik se adhik janakari rakahate hai, isaliye itana hi kah sakata hu ki apane mijaj ke mutabik koi tridosha nashak dava select kar le aur dhashamool-nirgundi-rasna ke quath ke saath le to aur adhik achchaa hoga.

    adhik behatar ilaj chahate hai to phir ap apana ek ETG AyurvedaScan parikshan kara le, isase sare3 sharir ka ayurvedic aur any diagnosis hokar jab ilaj lenge to bahut satik aur achuk phayada hoga, lekin is parikshan ki suvidha kewal kanpur me hi upalabdha hai

  4. sir,param mene aapko join kiye aaj kaval char din hi hoye aur mai apke laikh sb pad raha hun aur sare lakh bahut sundar hai aur is se muje bahut kuch sikhne ko mil raha hai.mene aapki chikitsa pallv ko pada muje isme apke likhe lakh bahut pasand aaye.mai ayush dr hun ,bikaner rajasthan mai posted hun mai aapke dawara ayush padati ke bare mai pad k acha laga.

  5. My name is sumit chaudhary, mai apne kamar dard se bahut pidit huu. . , or lamba sa saans lene me kafi problem hoti h kuch up chaarr btaieye apki ati kripa hogi, or kuch samasya gale me kharaas or malgam ki chip kan hoti h

    ——- REPLY ——-

    YOUR MENTIONED DISEASE CONDITION IS CURABLE BY OUR LATEST INVENTED METHODS OF AYURVEDA DIAGNOSIS BY HI-TECHNOLOGICAL MACHINES AND AYURVEDA AND AYUSH COMBINATION TREATMENT AND AYURVEDA MENTIONED LIFE STYLE MANAGEMENT PROCEDURE’S ADOPTIONS.

    ETG AYURVEDASCAN PARIKSHAN KARAKAR AYURVEDIC / AYUSH YANI AYURVEDA AUR HOMOEOPATHY AUR UNANI AUR YOGA PR——-AKRATIK CHIKITSA KA MILAJULA ILAJ KARANE SE SABHI TARAH KE ROG JINAKO LAILAJ BATA DIYA GAYA HO YAH SABHi AVASHY THIK HOTE HAI.

    See interview of cured patients and lectures on ETG AyurvedaScan technology. You can talk and conversation directly to patient by logging at our account at below ;
    http://www.youtube.com\drdbbajpai

    For Appointment and Fees and charges;
    ask Directly to Dr. A.B. Bajpai , Assistant to Dr. D.B.Bajpai and ETG AyurvedaScan Specialist Mobile no: 08604629190 Morning – 9 to 10 AM and Evening 7 to 8 PM
    अगर इलाज कराने के लिये APPOINTMENT और इलाज कराने की फीस के बारे मे जानकारी लेना चाहते है तो नीचे लिखे मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क करें /08604629190
    PATIENTS FROM OTHER COUNTRIES / NEIBOURING States & COUNTRIES / OUT SIDE INDIA / CONTINENT’S CITIZENS / OVERSEAS SICK PERSONS , who want our treatment for any disorders, should contact Dr. D.B. Bajpai by e-mail because telephonic contacts / telephonic talks / telephonic conversations are not possible for us. E-mail; drdbbajpai@gmail.com
    हमारे यहां से ठीक हो चुके रोगियो और ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन टेक्नोलाजी के बारे मे जानकारी चाहते है तो आप हमारे नीचे लिखे यू ट्यूब एकाउन्ट मे लाग आन करे / आप हमारे द्वारा ठीक किये जा चुके मरीजो से सम्पर्क कर सकते है /
    http://www.youtube.com\drdbbajpai
    you can go for more details about our activities at log on
    http://www.ayurvedaintro.wordpress.com

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s