सफ़ेद दाग LEUCODERMA बीमारी में बाहर से लगाने वाली दवायें यानी external aaplication से सफ़ेद दाग शरीर में ज्यादा तेजी से फैलने की tendency


सफ़ेद दाग की चिकित्सा करने वाले प्राय: सभी चिकित्सक , मरीज को सफ़ेद दागों के ऊपर औषधियुक्त तेल अथवा औषधियुक्त क्रीम लगाने के लिये देते हैं / यह तेल या क्रीम लगभग सभी चिकित्सा चिधियों में प्रचलित है / मरीज भी जैसा चिकित्सक बताते है , उसी तरह से तेल या क्रीम का उपयोग करता है / कुछ तेल लगाकर धूप में घन्टॊं बैठने के लिये कहते है, कुछ मालिश की तरह से तेल को रगड़ रगड़ कर लगाते है / जैसा चिकित्सक बताता है , वैसा ही मरीज करता है /


पिछले ४५ वर्षॊं से अधिक हो चुके हैं, मै सफेद दाग का इलाज सफ़लता पूर्वक करता चला आ रहा हूं, लेकिन मैने कभी भी किसी भी मरीज को external application की औषधि नहीं दी है /

मेरा External applications यानी त्वचा या सफ़ेद दागों पर बाहर से दवा न देने के पीछे का कारण यह है कि
इससे “Supprressive Disorders” पैदा हो जाते हैं /

इसलिये मेरा अनुभव यह है कि Leucoderma के मरीजों को कभी भी बाहर की दवा यानी external application का उपयोग नहीं करना चाहिये /

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s