फेफडे़ के कैन्सर के एक रोगी का ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन की फाइन्डिन्ग्स पर आधारित शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक चिकित्सा से लाभ ; Cancer of Lungs ; A patient is treated on the base of the findings of ETG AyurvedaScan, get relieved with Classical Ayurveda treatment


फेफडे़ के कैन्सर से ग्रसित एक ७२ साल के रोगी का शास्त्रोक्त आयुर्वेदिक इलाज ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित फाइन्डिन्ग्स को लेकर किया गया /

इस रोगी का इलाज कानपुर के चिकित्सको द्वारा किया गया , लेकिन उसे आराम नहीं मिली / रोगी को अति कष्टदायक खान्सी , जिसे कुछ चिकित्सकों ने बताया कि ब्रान्काइटीस है कुछ ने कहा दमा या अस्थमा है, किसी ने कहा कि टी०बी० है / खून की जान्च, एक्स रे, अल्ट्रा साउन्ड से कुछ विशेष निदान नहीं हो पाया, न हीं रोगी को दी गयी एलोपैथी की दवाओं से कोई आराम मिली / एक चिकित्सक ने FNAC जान्च कारायी तब पता चला कि मरीज को फेफडे़ का कैन्सर हो गया है / एलोपैथी के चिकित्सक की दवा से लाभ न मिलता देखकर , मरीज आयुर्वेद की चिकित्सा कराने के लिये मेरी क्ळीनिक में आया /

मैने उसके सारे प्रेस्क्रिप्शन, जान्चे और एक्स रे आदि देखने के बाद कहा कि आपको एक ETG AyurvedaScan examination कराना पडे़गा , तभी पता चलेगा कि शरीर में क्या क्या दोष हैं और क्या क्या बीमारियों का स्वरूप है ?

मरीज जब पहली बार आया तो वह चल नहीं पा रहा था और उसे तीन लोग पकड़ कर क्ळीनिक में लाये थे / उसकी सान्स बहुत तेज चल रही थी और वह सान्स के तेज चलने के कारण बोल नहीं पा रहा था , उसे बलगम के साथ खून से सना हुआ कफ निकल रहा था / तेज खान्सी रुकने का नाम नहीं ले रही थी / मरीज बड़ा कमजोर था / उसकी इस दयनीय स्तिथि में मुझे उसका ई०टी०जी० परीक्षण करना पडा / इस रोगी की दशा देखकर मुझे उसकी पीड़ा की गहरायी का अन्दाजा हो रहा था /

परीक्षण के पश्चात फौरी तौर पर मैने उसको दवायें दी और उसे दूसरे दिन बुलाया ताकि उसका सुचारु रूप से इलाज ई०टी०जी० रिपोर्ट पर आधारित किया जा सके /

..[ बाकी अगली पोस्ट में ….शीघ्र ही….. to be loaded further material soon in future ]

0 टिप्पणियाँ

  1. i want to know about ETG

    ………..reply by Dr DBBajpai………..isi blog me ETG AyurvedaScan ke bare me bahut vistar se bataya gayaa hai , sampurn ETG ke vikas ke bare me bataya gayaa hai, bahut se cases aur Research paper jo kai magazines me chchap chuke hai tathaa any Research work isi blog me post kar diye gaye hai, ap isi blog me dekh sakate hai, apako puri jankari ho jayegi, dhanyavad

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s