दिन: फ़रवरी 9, 2012

“मदन प्रकाश चूर्ण ” ; शुक्र दोष और वीर्य दोष तथा पुरूष के जननान्गों से सम्बन्धित सभी तरह के रोगों में उपचार हेतु अत्यन्त उपकारी ; Ayurveda Churna “Madan Prakash” , useful and recommended for the treatment of the Semen and Male Reproductive Organs Related anomalies


ऐसा मानते हैं और यह मानव स्वभाव भी है कि लगभग सभी पुरूषों को सेक्स से सम्बन्धित कोई न कोई कमी बनी रहती है / पुरूषों के जननान्गों का बहुत महत्व है लेकिन इससे भी ज्यादा महत्व स्त्रियों के जनन अन्गों का है / फिल्हाल यहां चर्चा का विषय पुरुषों के sex organs से जुड़ी हुयी समस्याओं का है /

आयुर्वेद की दवाओं का विश्व कोष बतायी जाने वाली पुस्तक भारत भैषज्य रत्नाकर मे एक महत्व्पूर्ण योग दिया हुआ है, जिसके उपयोग से पुरुषों की बहुत सी sex related problems का इलाज किया जा सकता है /

“मदन प्रकाश चूर्ण” का formula जिसमें उच्च कोटि की आयुर्वेद की जड़ी-बूटियों का मिष्रण है, और जिसमें निम्न औषधियां मिली हुयी हैं, इस प्रकार है ;

सामग्री; ताल मखाना, मूसली, विदारीकन्द, सोठ,अश्वगन्धा, कौन्च के बीज, सेमर के फूल, बीज बन्द, शतावर, मोचरस, गोखरू, जायफल, घी में भूनी हुयी ऊड़द की दाल, , भान्ग और बन्सलोचन , यह सभी द्रव्य एक एक हिस्सा लेकर महीन से महीन चूर्ण बना लें और इस सभी वस्तुओं के चूर्ण के हिस्से के बराबर शक्कर लें और इस शक्कर को महीन से महीन पीसकर उपरोक्त चूर्ण में मिला लें /

यह अब पुरूष रोग को दूर करने की औषधि तैयार हो गयी /

इस चूर्ण की मात्रा २ से ४ ग्राम तक है और इसे सुबह शाम गाय के दूध अथवा जो भी दूध मिले उसके साथ या जिन्हे दूध माफिक न आता हो , वे मलाई या रबड़ी मिलाकर या घी मिलाकर या मक्खन मिलाकर या इनमे से कुछ भी न मिले तो सादा पानी के साथ सेवन करना चाहिये /

आयुर्वेद की इस औषधि के सेवन से निम्नांकित फायदे होते हैं ;

१- यह पौष्टिक चूर्ण है, इसके शरीर की पुष्टता बढाता है /

२- यह रसायन गुण युक्त है इसलिये यह चूर्ण आयुर्वेदोक्त सप्त धातुओं की रक्षा करके रस, रक्त, मान्स , मेद, अस्थि, मज्ज, और शुक्र धातुओं की बृध्धि करता है /

३- यह बाजीकरण योग है इसलिये यह कमजोर मनुष्यों को सम्भोग करने के लिये अधिक वीर्य उत्पादन के लिये सम्र्थ बनाता है /

४- डायबिटीज के रोगियों के लिये यह चूर्ण किसी वरदान से कम नही है / डायबिटीज के रोगियों की सम्भोग अथवा मैथुन करने की क्षमता कमजोर हो जाती है/ इस चूर्ण के सेवन करने से डायबिटीज के रोगियों को दोतरफा फायदा होता है / इससे प्रमेह की शिकायत भी दूर होती है /

५- जिनका शुक्र, हस्त मैथुन या अन्य अप्राकृतिक तरीके अपनाने के बाद पानी जैसा पतला हो गया हो , इस चूर्ण के सेवन करने से वीर्य शुध्धि होकर गढा और प्राकृतिक हो जाता है /

६- जिनके SEMEN में कोई भी विकृति हो, sperm counts कम हों या स्पेर्म न बन रहे हों , उन्हें इस औशधि का उपयोग जरूर करना चाहिये /

मदन प्रकाश चूर्ण को सभी प्रकार के शुक्र दोषों में उपयोग किया जा सकता है / शरीर की General Health Condition को improve करने के लिये तथा कु-पोषण से पीड़ित रोगियों के लिये यह एक लाभकारी औषधि है /