LEUCOPLAKIA and ORAL CANCER including Oro-facial Fibrosis can be cured by Ayurvedic treatment ; मुख का कैन्सर, गालों का कैन्सर, जीभ का कैन्सर, फाइब्रोसिस का सटीक ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित आयुर्वेदिक इलाज


Leucoplakia second grade patient diagnosed after Biopsy, photo taken before start of treatment

Leucoplakia second grade patient diagnosed after Biopsy, photo taken before start of treatment

मुख के कैन्सर, गालों के कैन्सर और साथ में फाइब्रोसिस से पीडित कुछ मरीजों का आयुर्वेदिक और होम्योपैथी सम्मिलित इलाज ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित फाइन्डिन्ग्स को लेकर हमारे दवाखाने द्वारा किया जा रहा है /

उक्त रोगी ने लगभग तीन माह पहले बायोप्सी कराकर और एलोपैथी के चिकित्सकों द्वारा लाइलाज बीमारी बताकर इस रोगी को विटामिन की कुछ गोली खाने को कहकर इलाज की इति-श्री कर दी थी / यह मरीज कानपुर से २५० किलोमीटर दूर  से इलाज कराने आता है / जालौन जिले मुख्ज्यालय से ६० किलोमीटर दूर रहने वाले इस व्यक्ति को वही के एक मरीज ने , जो पहले अपने  ट्य़ूमर का इलाज करा चुका था, उसने मेरे यहां उक्त रोगी को अपने मुख के कैन्सर के इलाज के लिये भेज दिया  / मैने उसको सलाह देकर  कहा कि सबसे पहले एक ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन परीक्षण कराये फिर इलाज करायेन्गे तो अवश्य फायदा होगा / मरीज ने ईओय़ीओजीओ आयुर्वेदास्कैन फाइन्डिन्ग्स के आधार पर परीक्षण कराकर इलाज कराया और उसे दो महीने में बहुत आराम मिला है /

इस मरीज का २० दिन पहले का लिया गया चित्र देखिये और इसके improvement को देखिये / इसके दोनों गालों के ऊपर सफेद मलाई जैसी पर्त एकदम ठीक हो गयी है और मुख जो फाइब्रोसिस के कारण कम खुलता था , अब अधिक खुलना शुरू हो गया है /

             

                  उपरोक्त मुख के कैन्सर का मरीज कई साल से होम्योपैथी का इलाज करा रहा था, लेकिन उसे कोई फायदा नही मिला / लगभग छह माह पहले यह मरीज मेरे पास इलाज के लिये आया था / यह ऊपर कॊ फॊटॊ उसी समय की ली गयी हैं / इसे कुछ माह पहले Blood sugar  अचानक मेरे द्वारा किये गये टेस्ट से detect  हुयी है / मुझे ताज्जुब हुआ कि किसी भी डाक्टर नें blood sugar  की तरफ ध्यान ही नही दिया /

इसे antidiebetic treatment आयुर्वेद का दिया जा रहा है / साथ में होम्योपैथी की दवा इलाज के लिये उपयोग किया जा रहा है/ नीचे लिये गये फॊटॊ से मिलान करिये / इसके जीभ तथा मुख का कैन्सर का फैलाव बिल्कुल रुक गया है और मौजूदा मुख के कैन्सर-घाव अब heal  हो रहे हैं / नीचे के फोटॊ देखिये /

                                                                  

                                                             

दोनों मरीज अपना अपना व्यापार कर रहे है और साथ साथ उपचार के लिये आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक की दवाये पथ्य परहेज के साथ ले रहे हैं /

अब निष्कर्ष यही निकलता है कि आयुर्वेद के क्रान्तिकारी आविष्कार ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन की बदौलत किये जाने वाले इलाज हमेशा प्रभावकारी, सटीक, अचूक और विश्वसनीय होते है /

Advertisements

5 टिप्पणियाँ

  1. Yeh to ati mahatva purn jaanakaari di gayi …. Mai to dang hun maane ashcharya hai/….. Kripayaa ku6 oshadhiyo kaa digdarshan dene se ham apne rogiyo kaa bhi hit kar sakte hai App kaanpur vaasi or idhar Maharashtra or Gujraat aadi me gaavo me log ati kashta kaa anubhav karate hai or dakshin se to bhaashaa or graaminaanchal hone se dur jaanaa ashkya saa ho jaataa hai kripayaa ku6 sikhshaa deve jisase chikitsaa sulabh karayi jaa sake

    ………..reply………..isame dang hone ki koi baat nahi hai aur na ashcharya karane ki baat hai

    ETG AyurvedaScan aur isake parikshano ke baad sabase pahale yah pata lagaya jaata hai ki bimari kaha se kahaa tak jaarahi hai , kaise paida ho rahi hai aur kaun kaun se ang kharab ho rahe hai

    isake bad yah pata karana hota hai ki is marij ke ayurvedic sidhdhanto ke anusar kya dosha hai aur kra isako kis tarah ke ilaj ki aur management ki jarurat hai

    tab jakar marij thik ho pate hai

  2. मुझे 7/8 सालों से बार बार मुह में छाले पड रहा है । बहुत ईलाज के बाद भी ठीक नहीं हो रहा है । मुह भी बहुत कम खुलता है।

    ………..उत्तर………..इस तरह से छाले पड़ना किसी गम्भीर आन्तरैक बीमारी के प्रभवकारी लक्षण है / अभी तक क्या इलाज करते रहे यह आपने नही बताया ?

    मै इसके बारे मे यही कहून्गा कि आप आयुर्वेद का इलाज करिये या होम्योपैथी का आपको आराम मिलेगी और तकलीफ भी ठीक होगी /

  3. I am leucopaakia patients please koe ayurvedic dawa batae…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..REPLY BY DR DBBAJPAI
    FOR AYURVEDIC AND AYUSH DIAGNOSIS AND TREATMENT OF
    YOUR PHYSICAL AND MENTAL AILMENTS AND PROBLEM’S SOLUTIONS
    KINDLY CONSULT ON THE FOLLOWING PHONE NUMBERS
    LEAVE YOUR NAME AND PHONE NUMBER WITH MASSAGE
    0 80 90 32 77 28
    FOR VITILIGO / LEUCODERMA
    ;IN HINDI]
    0 51 22 36 77 73
    FOR EPILEPSY AND SEIZERS
    ; IN HINDI]
    0 93 36 23 89 94
    [IN HINDI]
    FOR ALL INCURABLE DISEASE CONDITIONS
    C9btact;
    Dr. D.B.Bajpai
    KANAK AYURVEA RESEARCH CENTER
    AN ISO 9001 – 2008 certified research center
    67 – 70, BHUSATOLI ROAD, BARTAN BAZAR,
    KANPUR UTTAR PRADESH
    WEB SITE ; ayurvedaintro.wordpress.com
    EMAIL ; drdbbajpai@gmail.com
    ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन फीस की जानकारी के लिये हमारा डाट फोन नम्बर 0512 2367773 पर काल करे / कम्प्य़ूटर रिकार्डेड सन्देश जैसे ही सुनना शुरू करे उसी समय अपने मोबाइल या फोन से * [स्टार] बटब दबाकर फौरन 1 नम्बर बटन दबायें / आपको ई०टी०जी आयुर्वेदास्कैन और इसके अन्य परीक्षणो की फीस के बारे मे जानकारी सन्देश के द्वारा मिल जायेगी /

    1. सर मुझे गले में कुछ घाव जैसा लगता हे right साइड की तरफ ,कुछ अटका हुआ लगता हे,
      और बोलते समय जलन भी होती हे।और ऐसा
      लगता हे जेसे गला छिल गया हो।
      इसका इलाज आपके यहाँ हो सकता हे क्या।

  4. some Ayurveda ka kya treatment Dita please bataya

    ——- REPLY ——-

    WE TRY AND DO OUR BEST TO FIND THE EXACT REASONS AND GENESIS OF THE DISEASE CONDITIONS and physical disorders. THIS IS VERY ESSENTIAL BEFORE START OF THE TREATMENT OF ANY DISEASE CONDITION.

    YOUR MENTIONED DISEASE CONDITION IS CURABLE BY OUR LATEST INVENTED E.T.G. AyurvedaScan examination and other diagnostics METHODS OF AYURVEDA DIAGNOSIS BY HI-TECHNOLOGICAL MACHINES AND AYURVEDA AND HOMOEOPATHIC and Unani INTEGRATED / AYUSH COMBINATION TREATMENT AND AYURVEDA MENTIONED LIFE STYLE MANAGEMENT PROCEDURE’S ADOPTIONS.

    ETG AYURVEDASCAN PARIKSHAN KARAKAR AYURVEDIC / AYUSH YANI AYURVEDA AUR HOMOEOPATHY AUR UNANI AUR YOGA PRAKRATIK CHIKITSA KA MILAJULA ILAJ KARANE SE SABHI TARAH KE ROG JINAKO LAILAJ BATA DIYA GAYA HO YAH SABHi AVASHY THIK HOTE HAI.

    See interview of cured patients and lectures on ETG AyurvedaScan technology. You can talk and conversation directly to patient by logging at our account at below ;
    http://www.youtube.com\drdbbajpai


    For Appointment and Fees and charges;
    ask Directly to Dr. A.B. Bajpai , Assistant to
    Dr. D.B.Bajpai and ETG AyurvedaScan Specialist , Kanak Polytherapy Clinic and Research Center, 67 / 70, Bhusatoli Road, Bartan Bazar, Kanpur, UP, India , Mobile no: 08604629190 Morning – 8 AM to 8 PM.
    अगर इलाज कराने के लिये APPOINTMENT और इलाज कराने की फीस के बारे मे जानकारी लेना चाहते है तो नीचे लिखे मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क करें /08604629190
    PATIENTS FROM OTHER COUNTRIES / NEIBOURING States & COUNTRIES / OUT SIDE INDIA / CONTINENT’S CITIZENS / OVERSEAS SICK PERSONS , who want our treatment for any disorders, should contact Dr. D.B. Bajpai by e-mail because telephonic contacts / telephonic talks / telephonic conversations are not possible for us. E-mail; drdbbajpai@gmail.com
    हमारे यहां से ठीक हो चुके रोगियो और ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन टेक्नोलाजी के बारे मे जानकारी चाहते है तो आप हमारे नीचे लिखे यू ट्यूब एकाउन्ट मे लाग आन करे / http://www.youtube.com\drdbbajpai
    you can go for more details about our activities and talks directly to patients who have taken our treatment of various LAILAJ BIMARIYAN / INCURABLE DISEASE CONDITIONS / INCURABLE DISORDERS at logging on OUR WEB SITE
    http://www.ayurvedaintro.wordpress.com
    आप हमारे द्वारा ठीक किये जा चुके मरीजो से सम्पर्क कर सकते है /you can directly make conversation to our patient, who have been treated by us.
    Please remember that EVERY PATIENT HAS ITS OWN REMEDY BASES ON THE EXAMINATION CONCLUSION AND THE REMEDIES DIFFERS FROM PATIENT TO PATIENT THAT MEANS ONE PATIENT MEDICINE CANNOT SUIT TO OTHER SIMILAR COMPLAINTS PATIENT AND MAY HARM SERIOUSLY EVEN TO DANGER TO LIFE. So donot presserise below given patient number asking for remdies.
    Disease condition……contact person…………mobile number
    1- Leucoderma———RAJESH————
    2- Leucoderma——-Anil —————–
    3- Leucoderma——– Rakesh ————
    4- Leucoderma ———-Manjhi ————
    5- Epilepsy ————- Shashi Kumar ——
    6- Epilepsy————Sahib Singh————
    7- Epilepsy ————- Pandey ————–
    8- Epilepsy——— K. Manjhi————
    8-[a] Epilepsy—-Guptaji————
    9- Epilepsy children—— Tewari——-


    10- Fistula ————–Kumar —————
    11- H.I.V.—————– Kumar ————–
    12- H.I.V.———— Bhaijaan———–
    13- H.I.V.—————BHAI—————
    14- Body GLANDS—Mohan ———-
    15- Spinal Cord—–Hoshiyar Singh —
    16- Incurable Disease–Ritesh ——–
    17- Incurable disease-Sandeep ——-
    18- Cancer————–Manish ———
    19- A.V.N. Avascular Necrosis-Danish -
    (ऊपर दिये गये मरीजो के नाम और बीमारियों का इलाज हमारे द्वारा किया गया और यह सभी मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके है / इनके मोबाइल नम्बर लिस्ट से हटा दिये गये है, क्योन्कि लोगो और पब्लिक द्वारा इन मरीजो को परेशान किया जा रहा था और यह सभी मरीज लोगो द्वारा आये दिन किये जा रहे दुर्व्यवहार की शिकायते हमसे करते रहते थे / इसलिये हमने निर्णय लिया है कि सभी मरीजो के नम्बर हटा दिये जाय / हमने निर्णय किया है कि जो लोग हमारे यहा इलाज के बारे मे उपरोक्त मरीजो से सीधे बात करना चाहते है और ज्यादा जानकारी करना चाहते है , ऐसे लोग इन मरीजो के मोबाइल फोन नम्बर हमसे डायरेक्ट बात करके प्राप्त कर सकते है )
    मोबाइल द्वारा रोगियो से सम्पर्क करने वाले लोगो से अनुरोध है कि वे ऊपर बताये गये मरीजो के नम्बर पर सम्पर्क करके रोगियो को अनावश्यक बाते पूछ्कर परेशान मत करें / बहुत से लोग बताये गये नम्बरो पर फोन करके दवाओ के बारे मे जानकारी करने का प्रयास करते है / ऐसे लोगो को सावधान किया जाता है कि हर मरीज का ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन परीक्षण से प्राप्त रिपोर्ट को आधार करके उसके व्यक्तिगत और चरित्रगत बातो को ध्यान करके दवाये लिखी जाती है / एक जैसे रोगो की दवाये रोगी के मिजाज और उसकी ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन परीक्षण से प्राप्त डाटा से बदल जाती है / एक मरीज की दवा दूसरे मरीज को कभी सूट नही करती है उल्टे तकलीफ बहुत भयानक तरीके से बढ जाती है / इसलिये ऐसी गलती मत करें /
    Please note that we have NO BRANCH anywhere in the country and outside of the country / देश अथवा विदेशों मे हमारी कोई भी ब्रान्च किसी भी शहर मे नही है / सभी परीक्षण मशीनो द्वारा किये जाते है और कनक पालीथेरापी क्लीनिक एवम रिसर्च सेन्टर, AN I.S.O. CERTIFIED AYURVEDA RESEARCH INSTITUTION, ६७ / ७०, भूसाटोली रोड, बर्तन बाज़ार,कानपुर शहर, उत्तर प्रदेश, भारत के अलावा दूसरी किसी भी जगह पर ऐसी सुविधा उपलब्ध्ध नही है /
    DOWNLOAD e-book FREE OF COST written by Dr D.B.Bajpai, the inventor of ‘’ ETG AyurvedaScan ‘’ in Hindi Language title; आयुर्वेद सिध्धान्तो का
    आधुनिक हाई-टेक्नोलाजी इलेक्ट्रो त्रिदोष ग्राफ ;
    ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित
    वैग्यानिक अध्ध्य्यन in HINDI Language ; Ayurveda fundamentals in view of ETG AyurvedaScan studies from below URL link
    http://www.slideshare.net/drdbbajpai/documents/आयुर्वेद सिध्धान्तों का आधुनिक हाई टेक्नोलाजी इलेक्ट्रि त्रिदोष ग्राफ ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित वैग्यानिक अध्ध्य्यन
    AYURVEDA DO AND DONTS ; PATHYA AUR PARAHEJ ; IN HINDI LANGUAGE ; KYA KYA KARANA CHAHIYE ; Free Book DOWNLOAD FROM ABOVE MENTIONED LINK
    AND MANY OTHERS e-BOOKS of use to general public as well as Ayurveda Lovers and AYURVEDICIANS
    Hurry !!! Download Books
    free download
    Gifted by
    Dr. D.B. Bajpai
    This book is available at WEKIPEDIA under
    WIKIBOOKS FREE OF COST / DOWNLOAD THE BOOKS

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s