दिन: दिसम्बर 15, 2013

CURE PROGRESS “VITILIGO ; LEUCODERMA ; WHITE SPOTS ; WHITE SKIN PATCHES ” CASE ; सफेद दाग के रोगी के सफेद दाग ठीक होने की तरफ के प्रोग्रेस होने के तथ्यात्मक फोटो


LEUCO01
एक “सफेद दाग” के रोगी की सफेद दाग की बीमारी के फोटोग्राफ्स आप सभी विद्वान पाठकों के लिये यहां evidence सवरूप में लोगो के लिये अवलोकनार्थ दिये जा रहे हैं, जिनसे लोगो को यह पता चले कि यह लाइलाज बीमारी नही है और इस लाइलाज बीमारी का इलाज है और इसे ठीक किया जा सकता है / 

नीचे दिया गया फोटो चित्र दिनान्क २८ जून २०१३ को लिया गया है, इसके ४० दिन पहले का चित्र जो १६ मई २०१३ को लिया गया था , वह गलती से सुरक्षित नही रखा जा सका / ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन और दूसरे परिक्षण करने के उपरान्त , इस रोगी को चालिस दिन आयुर्वेदिक दवा खिलाने के बाद “सफेद दाग” के हिस्से वाले में काले रन्ग के धब्बे आने लगे, जिसका चित्र दिनान्क २८ जून २०१३ का उतारा गया था / पहले रोगी के सफेद दाग वाले हिस्से मे कोई भी काला धब्बा नही था और रोग वाला स्थान बिल्कुल सफेद था /

Image

चालिस दिन के बाद जब रोगी review के लिये आया तब उसके शरीर के अन्दर की हो रही progress को जान्चने के लिये AYUSH SONO SCAN के अलावा AYURVEDA BLOOD EXAMINATION तथा AYURVEDA URINE EXAMINATION परीक्शन करने के बाद देश र समय और काल और परिस्तिथि तथा मौसम के हिसाब से दवाये बदली गयी /

Image

पिछले महीने की अर्थात नवम्ब्रर 2013 की 18 तारीख को उसका फिर review किया गया / उस समय का लिया गया फोटो-चित्र देखने और comparision करके जितने भी परिवर्तन VITILIGO spots मे हुये हैं , वह सब आप भी देखिये / इस रोगी को केवल आयुर्वेदिक चिकित्सा दी जा रही है / रोगी का निवास स्थान NCR है जो कानपुर से लगभग ४५० किलो मीटर दूर है /

निष्कर्ष:

यह बात हम एक बार फिर दोहरा कर कहते है कि VITILIGO / WHITE SPOTS / LEUCODERMA / WHITE SKIN PATCHES सफेद दाग / सुनबहरी आदि, जैसा भी नाम लिया जाय, लाइलाज बीमारी नही है, इसका इलाज है और यह जड़ मूल से ठीक होता है , अगर इस बीमारी का इलाज आयुर्वेद की आधुनिक तकनीक की रिपोर्ट पर आधारित होकर किया जाये /

Advertisements