LEUCODERMA / WHITE SPOTS / VITILIGO / सफेद दाग ; शत-प्रतिशत ठीक होते है , यदि ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित आयुर्वेदिक इलाज किया जाये ; 100 % curable , if AYURVEDA treatment given on the ground of E.T.G. AyurvedaScan reports


सफेद दाग LEUCODERMA ;अब लाइलाज बीमारी नही है ; आयुर्वेद चिकित्सा से शत प्रतिशत ठीक होता है

LEUCODERMA यानी सफेद दाग अब लाइलाज बीमारी की श्रेणी मे नही है / आयुर्वेद की आधुनिक तकनीक ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन के परीक्षण और इस परीक्षण के निष्कर्ष के आधार पर आयुर्वेद की चिकित्सा करने से WHITE SPOTS / LEUCODERMA / VITILIGO / सफेद दाग अवश्य ठीक होते है /

आयुर्वेद के दूसरे अन्य आविष्कृत किये गये परीक्षणो से यथा आयुर्वेद थर्मल स्कैनिन्ग, आयुर्वेद रक्त परीक्षण और आयुर्वेद मूत्र परीक्षण से प्राप्त आन्कड़ो और रोग निदान के निष्कर्ष आधारित इलाज से त्वचा सम्बन्धी सभी बीमारियो का इलाज सफलता पूर्वक किया जा सकता है /

हमारे अनुसन्धान केन्द्र ; कनक पाली-थेरापी क्लीनिक एवम अनुसन्धान केन्द्र , कानपुर , उत्तर प्रदेश , भारत मे सफेद दाग LEUCODERMA / WHITE SPOTS / VITILIGO के रोगियो का इलाज सफलता पूर्वक किया जा चुका है और इलाज मे सफलता का प्रतिशत ; १०० % शत – प्रतिशत रहा है /

हमारा इलाज करने का तौर तरीका निम्न प्रकार का है ;

१- सभी तरह के परीक्षण मशीनो द्वारा अथवा मशीनो की सहायता द्वारा किये जाते है

२- सबसे पहले आयुर्वेद थरमल स्कैनिन्ग करते है और इसके साथ साथ ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन का परीक्षण करते है

३- आवश्यकता के अनुसार मशीन द्वारा मैनुअल ट्रेस रिकार्ड किये जाते है

४- आयुर्वेद के रक्त परीक्षण किये जाते है

५- आयुर्वेद के मूत्र परीक्षण किये जाते है

६- त्वचा का जहां सफेद दाग होते है वहां का microscopic परीक्षण करते है

७- त्वचा का color deflection जान्चा जाता है 

८- इसके अलावा अन्य दूसरे परीक्षण आवश्यकता के अनुसार किये जाते है

इन सभी परीक्षणो को करने मे और रिपोर्ट तैयार करने मे 8  से 12 घन्टे तक लग जाते है

परीक्षण पूरे हो जाने के बाद  और रिपोर्ट फाइनल तैयार होने के बाद , मरीज की तकलीफ का Three Dimensional Diagnosis  निकाली जाती है और यह establish  किया जाता है कि [ पहला] LEUCODERMA / WHITE SPOT / VITILIGO / सफेद दाग को पैदा करने के बीज या जड़ बुनियाद कहां से पैदा हो रही है , दूसरा [२] यह जड़-बुनियाद किस रास्ते से होकर और किन किन अन्गो की विकृति के साथ होकर त्वचा तक पहुन्च रही है और तीसरा [३] शरीर के हिस्से की त्वचा कहां कहां प्रभावित हो रही है और उसकी intensity level  किस स्तर की है / इसके अलावा थरमल स्कैन और रक्त परीक्षण और मूत्र परीक्षण तथा अन्य परीक्षणो का सहारा निदानात्म्क दृष्टिकोण के मद्दे नज्रर  लिया जाता है /

क्या इलाज करना है, कहा शरीर मे गड़बड़ी है और किस तरह का उप्चार तथा खाना पीना और जीवन चर्या किस तरह की मरीज की होना चाहिये , यह सब एक विसतृत फाइल मे आदेशित किया जाता है /

मरीज के लिये उपयुक्त दवा क्या होना चाहिये , इसके लिये दवाओं का  चुनाव आयुर्वेदिक या होम्योपैथिक या यूनानी सिस्टम से एकल अथवा बहुल तरीके से मरीज की आवश्यकता के अनुसार चुनाव करके PRESCRIPTION  लिख दिया जाता है / यह दवाये मरीज को अपने शहर के दुकानो से खरीद कर सेवन करना होता है / सभी दवाये भारत के सभी शहरो और कस्बो मे उपलब्ध होती है /

हमारे यहा से मरीज को कोई भी किसी किस्म की दवा नही दी जाती है / मरीज को दवा लिखकर दे दी जाती है जिसे वह अपनी सुविधा के अनुसार कही से भी किसी भी दूकान से खरीद कर सेवन करता है /

हम केवक ONLY परीक्षण करके दवा का पर्चा देते हैं /

हमारे केन्द्र मे आकर इलाज कराने वाले सभी LEUCODERMA या सफेद दाग के रोगी ठीक हो गये है , जिनका इलाज चल रहा है , उनको भी दिन प्रतिदिन आराम मिल रही है और यह उम्मीद करते है और विश्वास करते है कि आगे भविष्य मे आने वाले सभी leucoderma के रोगी अवश्य ठीक होन्गे और इस तरह की लाइलाज बतायी गयी और कही गयी बीमारी से अवश्य मुक्त होन्गे /

LEUCODERMA / WHITE SPOTS are now not an incurable disease condition according to the AYURVEDA based newly invented technology E.T.G. AYURVEDASCAN and its supplementary tests results.

Ayurvedic treatment have been given a large number of LEUCODERMA patients at KANAK POLYTHERAPY CLINIC AND RESEARCH CENTER, KANPUR, UTTAR PRADESH , INDIA .

CURE Results are obtained 100%, which is an astonishing facts for ETG AyurvedaScan Chief Investigator Dr D.B.Bajpai, who is engaging in this task.

3 टिप्पणियाँ

  1. sir, pl tell me who much expenses come under this treatment .

      Thank’s & Best Regards   JITENDER KUMAR M.No. 0 9818xxxxxxxx

    ………..reply………..ETG AyurvedaScan tests are done for searching the exact problem of the patinet and his / her problem conclusion.

    Its supplementary tests are needed according to patient needs.

    Verify tests expenses at the time of testing.

    1. ——- REPLY ——-

      YOUR MENTIONED DISEASE CONDITION IS 100% CURABLE BY OUR LATEST INVENTED METHODS OF AYURVEDA DIAGNOSIS BY HI-TECHNOLOGICAL MACHINES AND AYURVEDA AND AYUSH COMBINATION TREATMENT AND AYURVEDA MENTIONED LIFE STYLE MANAGEMENT PROCEDURE’S ADOPTIONS.

      ETG AYURVEDASCAN PARIKSHAN KARAKAR AYURVEDIC / AYUSH YANI AYURVEDA AUR HOMOEOPATHY AUR UNANI AUR YOGA PRAKRATIK CHIKITSA KA MILAJULA ILAJ KARANE SE SABHI TARAH KE ROG JINAKO LAILAJ BATA DIYA GAYA HO YAH SABHi AVASHY THIK HOTE HAI.

      For Appointment and Fees and charges;

      ask Directly to Dr. A.B. Bajpai , Assistant to Dr. DBBajpai and ETG AyurvedaScan Specialist Mobile no: 08604629190

      On Tue, Mar 22, 2016 at 12:10 AM, Santosh Makhija wrote:


      Regards:

      Dr DBBajpai MD Ph.D

      Ayurvedic – Ayush Diagnostician and
      Chief ETG AyurvedaScan Investigator,

      Our Address and Location is at ;
      KANAK POLYTHERAPY CLINIC AND RESEARCH CENTER ,
      67 / 70, BHUSATOLI ROAD, BARTAN BAZAR,
      KANPUR – 208001, UUTTAR PRADESH, INDIA
      .

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s