FISTULA IS NOW NOT AN INCURABLE DISEASE CONDITION ; ETG AyurvedaScan bases treatment provides 100 % cure of Fistula ; भगन्दर अब लाइलाज बीमारी न समझी जाय ; ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित इलाज से भगन्दर की बीमारी शत प्रतिशत आरोग्य प्रदायक


FISTULA यानी भगन्दर के बारे मे आम धारणा यही है कि यह बीमारी लाइलाज है और इसका कोई दवाओं से इलाज अथवा औशधीय इलाज नही है , सिवाय आपरेशन कराने के / इस तरह की धारणा आम जन और लोगो के बीच व्याप्त है /

लेकिन ऐसा सोचना गलत है / भगन्दर और FISTULA  का इलाज आयुर्वेद और homoeoapthy  और यूनानी तथा योग और प्राकृतिक चिकित्सा मे सम्भव है और यह बीमारी एक बार ठीक हो जाने के बाद फिर नही पैदा होती है /

आधुनिक चिकित्सा एलोपैथी मे  FISTULA  या भगन्दर का इलाज सिवाय आपरेशन कराने के दूसरा कोई उपाय नही है / आपरेशन कराने के बाद कई मरीज ठीक हो जाते है लेकिन बहुत से ऐसे मरीज इलाज के लिये आये जिनको एक बार  आपरेशन क्राने के बाद उनको फिर दुबारा FISTULA  पैदा हो गया / बहुत से ऐसे अपनी चिकित्सा कराने के लिये आये जो 9 दफा यानी NINE TIMES SURGERY करा चुके थे फिर भी उनका FISTULA नही ठीक हुआ /

आयुर्वेद मे औषधीय उपचार के साथ साथ क्षार सूत्र चिकित्सा का उपयोग करते है / लेकिन बहुत से ऐसे मरीज चिकित्सा कराने के लिये हमारे रिसर्च मेन्द्र मे आये जो  देश के प्रतिष्टिथ  क्षार चिकित्सा केन्द्रो मे जाकर  क्षार सूत्र क्रा चुके थे और उसके बाद भी नही ठीक हुये /

ऐसे मरीजो का इलाज आयुर्वेद की नवीन आविष्कृत की गयी अत्याधुनिक तकनीक  ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन और इसके supplementary tests  पर आधारित इलाज करने से अव्श्य आराम मिला और मरीज ठीक हुये है /

चिकित्सा के लिये आये लगभग सभी मरीज ठीक हुये है और लाइलाज कही जाने वाली बीमारी FISTULA  यानी भगन्दर का इलाज दवाओ के द्वारा सम्भव हो गया है /

2 टिप्पणियाँ

  1. My wife is suffering from back pain and not able to sit , bend very difficult for her even for routine jobs …can u help me

    ………..reply………..Allopathy have no specific and effective treatment of musculo-skeletal problems as you have mentioned.

    Only Ayurveda and Homoeopathy and Unani have curative / relievable treatment of this type of musculo-neuro-skeletal combination problems.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s