दिन: मई 4, 2014

F.A.Q. ; WHY YOU SAY TO SOME PATIENT’S THAT ” I WILL NOT TREAT YOU”. बार बार पूछे जाने वाला सवाल ; आप यह क्यो मरीजों से कह देते है कि आप उनका इलाज नही करेन्गे या “मै आप्का इलाज नही करून्गा” ऐसा कह कर मना कर देते है , ऐसा आप क्यों करते हैं ??


F.A.Q. ; WHY YOU SAY TO SOME PATIENT’S THAT ” i WILL NOT TREAT YOU”.

बार बार पूछा जाने वाला सवाल ; आप यह क्यो मरीजों से कह देते है कि आप उनका इलाज नही करेन्गे या “मै आप्का इलाज नही करून्गा” ऐसा कह कर मना कर देते है , ऐसा आप क्यों करते हैं ??

उत्तर; मै चाहता हू कि मै अपने सभी मरीजो का इलाज करू/ ऐसा मै करता हू और मरीजो के साथ बहुत मेहनत करके उनका रोग निदान और चिकित्सा व्यवस्था करने का अपने सम्पूर्ण ग्यान और अनुभव का भरपूर और अधिक से अधिक MAXIMUM LEVEL का उपयोग करता हू / ऐसा व्यवहार सभी आगन्तुक रोगियो के साथ है , जो इलाज के लिये मेरे OUT-DOOR HOSPITAL मे आते है / लेकिन कुछ बाते इस तरह की हो जाती है जो UNAVOIDABLE होती है और जो मेरे ५० साल के PRACTICE CARRIER के दर्मियान superstitious होकर बैठ गयी हैं /

कुछ कारण है जो मुझे रोगी की चिकित्सा के लिये रोक देते है , इसमे मेरी कोई गलती नही है , यह मरीज खुद ही अपनी गलती से कर बैठता है , इसे मै दैवीय सन्देश मानता हू और यह समझता हू कि “ईश्वर मुझे शायद यह सन्देश दे रहा है कि मरीज या रोगी मेरे हाथ से नही ठीक होगा /

जो मरीज या रोगी या उनके परिजन इस तरह का सवाल नही पूछते है और इलाज के लिये सीधे सीधे विश्वास और आशा के साथ इलाज करते है , वे अव्श्य ठीक होते है, ऐसा मैने अनुभव किया है और यह सत्य भी है /

इसीलिये मै ऐसे रोगियो को मना कर देता हू कि “आप मेरे पास इलाज के लिये मत आइये ” / क्योंकि मरीज का NEGATIVE  विचार करना आयुर्वेद के मत से “अनिष्ट” की श्रेणी मे आता है और यह आयुर्वेद के चिकित्सा सिध्धन्तो और आयुर्वेद के शास्त्र  मे दी गयी हिदायतो के अनुकूल नही है बल्कि यह प्रतिकूल है /

VIDEO सेनेन्गे तो सारी बात का पता चल जाय्गा /

ayurvedakrantikari

Advertisements

FAQ; Frequently asked questions ; What is ETG AyurvedaScan and how it is done ? बार बार पूछे जाने वाले प्रश्नो का उत्तर ; ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन क्या है और इसे किस तरह से करते है ??


देश और विदेश से बहुत बड़ी सन्ख्या मे मरीज और मरीज के परिजन और रेश्तेदार जिन सवालो को बार बार पूछते है और उनके सबके जवाब एक जैसे ही होते है , उन्ही पर्श्नो के उत्तर यहां दिये जा रहे है ?

प्रश्न : ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन क्या है औए इसे किस तरह से करते हैं ; FAQ;  What is E.T.G. AyurvedaScan and by which medium it is done??

उत्तर; Full  form of E.T.G. is Electro Tridosha Graphy अथवा Electro Tridosha Graph ; ई०टी०जी० का फुल नाम है “इलेक्ट्र्रो त्रिदोष ग्राफी अथवा इलेक्ट्रो त्रिदोष ग्राफ /   आयुर्वेद के परीक्षण की हाई-टेक्नोलाजी ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन का परीक्षण मशीनो द्वारा किया जाता है जिसके बारे मे वीडीयो के द्वारा short मे बताया गया है / जिस मशीन द्वारा यह परीक्षण किये जाते है, यह एक आयुर्वेद की रिसर्च के उद्देश्य से  PROTO-TYPE  DEVELOPED MACHINE   है और केवल रिसर्च के उद्देश्य से इस मशीन मे और इसके HARDWARE और SOFTWARE  मे समय समय पर आवश्यकतानुसार परिवर्तन किये जाते रहते है /  ताकि बेहतर से बेहतर परीक्षण के results    बराबर लगातार अनवरत मिलते रहे और निदान ग्यान और चिकित्सा कार्य मे PERFECTION  प्राप्त होता रहे / हमारा उद्देश्य यह भी है कि आयुर्वेद की चिकित्सा मे सटीक और अचूक और ZERO ERROR  treatment target होना चाहिये ताकि रोगी को शीघ्र से शीघ्र लाभ प्राप्त हो /

http://youtu.be/bxCWj_vkZCo

ad002