आयुर्वेद न्यूट्रास्यूटीकल्स ; अधिक गर्मी के कारण होने वाली तकलीफो से बचने के लिये ………


आयुर्वेद की विशेषता यही है कि सभी मौसम के लिये सभी के लिये आयुर्वेद के मनीषियों ने मौसम से प्राप्त सभी वस्तुओ के सटीक उपयोग के लिये combinations  दे दिये है /

गर्मी के मौसम मे गर्म हवाओ के चलने और लू लपट high degree temperature के चलते हुये बहुत सी तकलीफे शरीर मे अचानक पैदा होने की स्तिथि बन जाती है , इन सभी अवस्थाओ से बचने के लिये नीचे लिखे nueutraceutical   को अपनाइये और फायदा उठाइये ;

साम्ग्री सब आप्के किचन मे मिल जायेगी /

१- एक छोटा प्याज , बड़ा हो तो आधा कर ले

२- एक कच्चा छोटा आम / अमिया

३-१५ -२० पुदीना की पत्ती / अधिक भी छोड़ सकते है

४- एक टुकड़ा अदरख

५- एक चम्मच जल जीरा मसाला पाउडर

५- आधा चम्मच काली मिर्च

६- स्वादानुसार काला नमक

७- एक या दो चम्मच शक्कर  / चीनी  / गुड़

८- आधा या एक नीबू का रस

२५० मिली लीटर ठन्डा पानी

मिक्सी मे डालकर अच्छी तरह से CHURN  कर लें

जब सब मिलकर पतला सा liquify  हो जाये  तब इसे चाय की छलनी से छान ले /

इसमे बर्फ मिला सकते है / अथवा थोडी देर फ्रिज मे रखकर ठन्डा कर ले /

इसे अकेले या दो लोग share  कर लें

इस पेय मे प्याज की गन्ध बिलकुल नही होती और स्वाद इसका बहुत अच्छा होता है /

अपनी रुचि के अनुसार मसाला कम या ज्यादा कर सकते है  /

इसे दिन मे दो बार सुबह शाम अथवा सुबह नाश्ते के समय या शाम को लेना चाहिये / दिन मे दो बार पीने से गर्मी के कारण होने वाले प्रभावों से बचे रहेन्गे /

इस पेय पदार्थ के सेवन करने से HEAT STROKE, और HEAT STROKES से पैदा हुये सभी तरह के syndromes  दूर हो जाते है / इसके सेवन से electrolytic imbalances  कुदरती रुप मे स्थापित होते है / यह लू लगने का पूरा उपचार भी करता है / लेकिन इसके लिये इस पेय पदार्थ को दिन मे पान्च अथवा छह बार लेना चाहिये / 

 HOMOEPATHIC REMEDY  भी  बहुत कारगर है Heat Stroke syndromes  को दूर करने के लिये / जिन लोगो को या जिस TROPICAL REGION के COUNTRIES  मे, जहां  गर्म बहुत होती है वहा गर्मी के असर से बचने के लिये होम्योपैथी की दवा GLONINE 30 शक्ति की  preventive  का कार्य करती है / जब लू या लू जैसे HEAT STRKES SYNDROMES पैदा हो तो इस दवा की एक खुराक रोजाना खाने से heat strokes  से बचा जा सकता है / यही दवा HEAT STROKES या HEAT EXPOSURE  के इलाज मे भी काम आती है / 

ad002

 

एक टिप्पणी

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s