होम्योपैथी की कुछ दवाओं के काम्बीनेशन “कैन्सर” तथा “कैन्सर जनित सिन्ड्रोम्स” मे बहुत लाभ दायक साबित हुये हैं


कैन्सर तथा कैन्सर जनित सिन्ड्रोम्स के लिये होम्योपैथी की कुछ दवाओ के काम्बीनेशन रोगियों में उपयोग किये गये है , जिनसे कैन्सर जनित सिन्ड्रोम्स मे बहुत फायदा मिला है /

जिस तरह का फायदा रोगियो को उनकी तकलीफ के review आब्जर्वेशन मे मिला , वह रोगियॊ के दर्द का कम होने और सूजन को कम होने मे अधिक देखने मे आया है /

होम्योपैथी मे एसिड से तैयार की जाने वाली दवाये जिनमे चार एसिड का उपयोग मरीज की स्तिथि के अनुकूल और ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन और इसके तत्सम्बन्धित परीक्षणो के आधार पर चुनाव करके किया गया है / ये चार होम्योपैथी के एसिड है ;
१- ACID MURIATIC Q
2- ACID NITRIC Q
3- ACID SULPHURIC Q
4- ACID PHOSPHORIC Q

उक्त चारो एसिड मरीज की totality और ETG AyurvedaScan and its supplementary examination and test के आधार पर ही किया गया है /
लेकिन इन एसिड के साथ साथ कुछ अन्य दवाये है जिनका उपयोग भी किया गया है / ये निम्न है /

1- PHYTOLACCA Q
2- HYDRASTIS Q
3- ECHINESIA Q
4- KALMEGH Q
5- CHIRAYATAA Q
6- IODIUM Q

के अलावा अन्य बहुत सी दवाये है जो आवश्यकतानुसार उपयोग की जाती है /

यह देखा गया है कि होम्योपैथी के एसिड अन्य दवाओ के साथ मिला देने से दूसरे मदर टिन्क्चर बहुत एक्टिव हो जाते है और उनके hidden ingredients शरीर मे जज्ब होकर बहुत तेजी से असर करते है /

उदाहरण के लिये गले के स्वर यन्त्र के कैन्सर VOCAL CORD CANCER के लिये ACID PHOS Q के साथ होम्योपैथी के अन्य मदर टिन्क्चर ्यथा ASPIDOSPERMA Q AND JUSTICIA ADHAATODA Q AND HYDRASTIS Q के अलावा दूसरे अन्य उपयुक्त मदर टिन्क्चर के मिक्सचर का उपयोग curative सिध्ध हुआ है /

मेरा मानना है कि phosphoric acid के कारण अन्य सभी मदर टिन्क्चर के औषधीय गुण फास्फेट्स के गुणों मे तब्दील हो जाते है, इसलिये औषधीय गुणो का असर कैन्सर सेल और कैन्सर टीशूज पर पड़ता है जिससे उनके degeneration की प्रक्रिया मे सुधार होता है /

हलाकि यह होम्योपैथिक औषधियो का प्रयोग कैन्सर की पहली और दूसरी अवस्था तक ही काम करता है लेकिन बहुत अधिक बढी हुयी अवस्था मे यह सीमित ही कार्य करता है /

यहा दी गयी findings को fool-proof नही समझना चाहिये क्योकि अभी इसे कुछ ही मरीजो पर आजमाया गया है / अभी इस दिशा मे होम्योपैथिक दवाओ के प्रयोग के और अधिक उपयोग और गम्भीर प्रकृति के अध्ध्यन कैन्सर और कैन्सर  सिन्ड्रोम्स के बारे में हमारे रिसर्च केन्द्र में किये जा रहे है /

ayurvedakrantikari

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s