LOHASAV ; EXCELLENT HAEMATINIC AYURVEDA REMEDY ; CURES ALL NATURE OF “ANEAMIA” AND ANEAMIA RELATED DISORDERS ; खून की कमी और रक्ताल्पता के अलावा शरीरिक कम्जोरी को दूर करने के लिये आयुर्वेद की औषधि “लोहासव”


manasik rog 001

आयुर्वेद मे खून बढाने वाली दवाओ अथवा खून की कमी को दूर करने वाली औषधियो अथवा रक्त के विकार से समबन्धित लगभग सभी बीमारियो के लिये लाभकारी दवाओ का बृहत सन्कलन है /

प्राचीन काल मे आयुर्वेद के चिकित्सा अभ्यासी महर्षियो ने यह ग्यान प्राप्त कर लिया था कि लोहा यानी IRON के अन्दर रक्त बढाने की और रक्ताल्पता को दूर करने की अदभुत क्षमता है, इसके अलावा यह रक्त के अन्दर के composition  को सही कुदरती अनुपात मे बनाये रखने की कुदरती ताकत रखता है, वे चाहे कोई भी हो और कैसे भी हो यानी POLYMORPHS & LYMPHOCYTES & BASOPHILS & MONOCYTES & EOSINIPHILS  की कुदरती बनावट और अनुपात को बनाये रखने की क्षमता रखता है और इसके अलावा BLOOD SERUM   के अन्दर पाये जाने वाले PLATELETS  और दूसरे अन्य कम्पोजीशन को भी कुदरती एतर पर बनाये रखने की क्षमता रखता है /

लोहासव बनाने मे जिन HERBS  और MINERALS और METALS का उपयोग करते है वे multidimentional effects  देने वाले होते है / इसे बनाने मे जिस तरह की प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है वह अति वैग्यानिक स्तर  की है /

औषधियो के बनाने की प्रक्रिया मे उत्तरोत्तर सुधार होने और विधियो के विकास होने के साथ साथ लोहासव एक बहुत महत्व्पूर्ण औषधि बन जाती है /

लोहा यानी IRON  इसका मुख्य  द्रव्य है / लोहासव बनाने के लिये लोहा को दो विधियो के द्वारा औषधीय आत्मसात कराने के लिये उपयोग किया जाता है

पहली विधि मे लोहे के बुराद्वे को हरड़ के काढे के साथ मिलाया जाता है और इसे कुछ दिन तक रकह दिया जाता है ताकि सारा लोहा गलकर काढे मे मिल जाये /  इस लोहा गलाकर मिलाये गये काढे मे बाद मे अन्साय जड़ी बूटी मिलाकर सन्थधान के लिये ४० से ६० दिन तक रकह्ते है ताकि fermentation बेहतर तरीके हो जाये और मिलायी गयी herbs का extract  अच्छी तरह मिल जाये /

दूसरी विधि मे लोहा भस्म मिलाते है और इसे अन्य herbs  के साथ मिलाकर  FERMENTATION के लिये निर्धारित समय तक जैसा कि शास्त्रो मे बताया गया है उसी अनुसार रख देते है /

ळोहासव बनाने के शास्त्रो मे कई फार्मूले दिये गये है और यह किसी भी विधि से बनाये जांय , यह औषधि निर्धारित रोगो मे अवश्य लाभ करती है /

लोहसव००१ 001

इसके फार्मूले मे निम्न प्रकार के घटक द्रव्य होते है ;

लोहे का बुरादा या लोहा भस्म या हरड़ के क्वाथ मे डालकर गलाया हुआ लोहा चूर्ण , सोन्ठ, कालीमिर्च, छोटी पीपल, आवला , हरड़, बहेड़ा, अजवायन, वाय विडन्ग, नागर मोथा, चित्रक मूल, प्र्त्येक  १६ तोला, धाय के फूल १ सेर, शहद, ३ छटान्क एक तोला, गुड़ ५ सेर और जल साढे २५ सेर ८ तोला लेना है /

उपरोक्त सभी  द्रव्यो को लेकर एक लकडी अथवा कान्च अथवा मिट्टी के पात्र मे भरकर और इस पात्र का मुख बन्दकर ऊपर से कई परत मोटे कपडे की ढककर  रख दे और ३० या ४० या ६० दिन तक सन्धान करे / FERMENTATION   की प्रक्रिया पूरी होने के बाद पात्र को खोलकर  प्राप्त द्रव्य को  छानकर औषधि उपयोगार्थ  शीशियो मे भरकर रख ले /

DOSES ; मात्रा ; १५ से ३० मिली लीटर लोहासव को बराबर मात्रा मे पानी मिलाकर भोजन करने के बाद दोनो समय भोजन करने के तुरन्त बाद पीना होता है /

INDICATIUONS / USES / DISORDERS / USEFUL IN ; लोहासव के गुण और उपयोग ;

लोहासव के अकेले उप्योग से बहुत सी बीमारियो मे लाभ मिलता है /

पान्डु यानी all kinds of Heaptitis and Liver and lever related problems and disorders

गुल्म यानी  fermentation and wind formation and wind pockets in abdomen and intestines

सूजन यानी all kinds of swelling and puffiness and dropsy and inflammatory conditions

अरुचि यानी perverted taste, changed taste, no desire for food, tasetlessness , aversion to food

सन्ग्रहणी यानी Inflammatory condition of bowels and irritable bowel syndromes and colitis and intestinal related problems and disorders

जीर्ण ज्वर यानी Chronic Fever and Hectic Fever and for those fever who are persisting since long time

अग्निमान्द्य यानी poor hunger, hunger weak, weak appetite. poor appetite, poor digestion, weak digestion

दमा यानी अस्थमा यानी asthma, Pulmonary disorders, spasmodic pulmonary problems, Chronic Obstructive Pulmonary disorders C.O.P.D.

कास यानी any kind of Cough and Croup

क्षय यानी Tuberculosis and Emaciation and loosing body weight and flesh

उदर रोग यानी alli kinds of abdominal problems

अर्श यानी Piles and Heamorrhoids of all nature

कुष्ठ यानी all kinds of Skin disorders

कन्डू यानी Itching, scabies, dermatitis, allergy of all kinds

तिल्ली यानी all disorders of SPLEEN and spleen related problems

ह्रद्रोग यानी Diseases of Heart and cardiac anomalies

यकृत-प्लीहा यानी hepato-spleeno disoders in combination

आयुर्वेद के आसव अरिष्ट का निर्माण करना उच्च्कोटि की वैग्यानिक तकनीक है / लोहासव मे लौह के अलावा अन्य द्रव्य मिल जाने से इसकी गुणवत्ता बहुत ही आला दर्जे की बन जाती है /

सभी जान्ते है और इस बात से सहमत है कि लोहा यानी  IRON  शरीर मे खून बढाने का काम करता है / लोहासव मे लोहा होने से यह उद्देश्य पूरा हो जाता है /

लोहासव मे गुड़ का उपयोग करते है / गुड़ एक पौष्टिक खाद्य पदार्थ स्वीकार किया जा चुका है / गुड मे कार्बोहाइड्रेट होने के साथ साथ जरूरी minerals  और  Vitamins पाये गये है जो श्रीर को जरूरत को पूरा करते है /

लोहासव fermentation  की प्रक्रिया से बनाये जाते है / यह सभी जानते है कि fermentation  की प्रक्रिया मे YEAST  का यानी खमीर का पैदा होना और कार्बोहाइड्रेट के साथ प्रक्रिया करके थोडी मात्रा मे ALCOHOL को उतपन्न करता है / इसके साथ इस प्रक्रिया मे विटामिन B Comlplex कुदरती तरीके से पैदा हो जाता है जो पाचन मे सहायता करता है /

Fermentation की प्रक्रिया मे CORBON DI OXIDE  पैदा हो जाती है  जो लोहासव मे समाहित होती है / कार्बन डाइ आक्साइड पेट के अन्दर  पैदा होने वाली गैस के molecules  को सोख लेती है इस तरह से पेट के अन्दर गैस से बनने वाली तकलीफे दूर होती है /

लोहासव का सेवन खाने के बाद करते है और इसमे बराबर पानी मिलाते है , इससे Hydrogen Ion और  Oxygen  के Ion  बढते है जो भोजन को पचाने के लिये पाचन तन्त्र को  पाचन करने और assimilation  करने मे सहयोग देते है /

लोहसव००१ 002

भारत सरकार को चाहिये कि आयुर्वेद की औषधि  “लोहासव”  को उन सभी ग्रामीण क्षेत्रो और इलाको मे सस्ती दर पर या मुफ्त  मे उपलब्ध कराना चाहिये जहा इस बात की शिकायते मिलती है कि अमुक क्षेत्र के लोगो के अन्दर खून की कमी पायी गयी है /  लोहासव खून की कमी को दूर करने मे एक सफल औषधि है /

3 टिप्पणियाँ

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s