PRAVAL PANCHAMRAT ; A GREAT AYURVEDIC COMBINATION OF “CALCIUM” ; REMEDY AS WELL AS NUTRITION ; प्रवाल पन्चामृत ; आयुर्वेद की एक महान औषधि और खाद्य-पूरक “कैलसियम” का सर्वश्रेष्ठ विकल्प


प्रवाल पन्चा मृत आयुर्वेद की एक ऐसी औषधि है जिसका combination  कई ऐसे कैल्सियम आधारित तत्वो से मिलकर बना है जो कुदरती और प्रकृति मे पाये जाते है / इसमे प्रयोग किये जाने वाले सभी ingredients  समुद्र मे मिलते है और उन्ही का उपयोग औषधि  को बनाने के लिये  उपयोग क्ररते हैं /

जिन समुद्री उत्पाद को इस औषधि को बनाने के लिये उपयोग करते है ये निम्न है ;

१- मोती या मुक्ता या PEARLS

2- प्रवाल या मून्गा या CORAL

3- मुक्ता शुक्ति या PEARL’S SHELL

4-  कौडी या COWERY

5- शन्ख या SACRED CHANK

इन पान्चो द्र्व्यो की  आयुर्वेद के नियमानुसार अलग अलग भस्म बनायी जाती है / इसके बाद इन सभी द्रव्यो की भस्मो   को बराबर बराबर मात्रा मे लेकर इन सबको   गाय के दूध के साथ बराबर मात्रा लेकर खरल मे डालकर   घोटते   है और जब यह सब द्रव्य घोटते घोटते सूख जाते है तब इसे गजपुट मे रखकर फूकते है /  यह कई बार किया जाता है /  ऐसी प्रक्रिया कई बार करने के बाद इसे बीमारियो मे उपचार के लिये प्रयोग करते है /

समुद्री उत्पाद इस दवा मे शामिल होने के कारण इस औषधि मे कैल्सियम के साथ साथ अन्य बहुत तरह के मिनरल्स भी मिल जाते है /

1- मोती मे कैल्सियम कार्बोनेट 90  से  92 %प्रतिशत,  कारबनिक पदार्थ 4  से 6 % प्रतिशत तथा जल 2  से  4 % प्रतिशत तक उपस्तिथि होता है /

2- मुक्ता शुक्ति के अन्दर पाये जाने वाले contents / chemical composition  मोती की ही तरह के होते है लेकिन इसमे कुछ अन्य द्रव्य अधिक पाये जाते है /

3- प्रवाल मे कैल्सियम कार्बोनेट 86.9 %  प्रतिशत और मैगनेशियम कार्बोनेट 6.8 % प्रतिशत और कैल्सियम सल्फेट 1.27 % प्रतिशत और फेरस आक्साइड 1.72 % प्रतिशत और कार्बनिक पदार्थ 1. 35 % प्रतिशत और पानी 0.55 %  प्रतिशत और फास्पोरिक अम्ल और सिलिका  आदि 1.33 % प्रतिशत मौजूद होते हैं /

4- शन्ख के अन्दर केलसियम और फास्फोरस और लौह तत्व उपस्तिथि होते है /

५- कौड़ी यानी कपर्दिका के अन्दर कैल्सोयम फास्फेट और कल्सियम कार्बोनेट और फ्लोराइड और मैग्नीशियम फास्फेट और मैन्गनीज और सोडियम क्लोराइड जैसे तत्व पाये जाते है /

उपरोक्त सभी तत्वो का  बार बार और कई कई बार  भस्मीकरण हो जाने के बाद  इसके सभी तत्व आपस मे मिलकर सूच्छ्म से सूच्छ्म अति-महीन होकर NANO-PARTICLES  मे बदल जाते है / इस तरह से इन वस्तुओ का ATOMIC STRUCTURE  का बदलाव    NANO PARTICLES  मे बदलकर अति शक्तिशाली हो जाता है / इस तरह से यह एक अति महत्व्र पूर्ण औषधि बन जाती है /

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s