EXCESSIVE AND EXTREME SEXUAL DESIRE OF MALE AND FEMALE IS A PHYSICAL AND MENTAL DISORDER RELATED PROBLEMS ; AYURVEDA AND AYUSH THERAPIES HAVE EXCELLENT TREATMENT TO CURE THIS DISORDERS ; अत्यधिक और हर समय सेक्स करने की इच्छा करने वाले महिला अथवा पुरुष एक तरह की मानसिक अथवा शारीरिक बीमारी के शिकार होते है ऐसी या इस तरह की बीमारियो का उपचार आयुर्वेद अथवा आयुष चिकित्सा द्वारा सटीक और अचूक् सम्भव है


मुझे बहुत से ई मेल और फोन मैस्सेज मिलते है ्जिनमे महिलाये और पुरुष दोनो ही होते है / यह इस बात से बहुत परेशान होते है कि उनको सेक्स करने की हमेशा इच्छा बनी रहती है /

ंऎऎ outdoor hospital  मे भी बहुत से रोगी इसी की शिकायत लेकर आते है कि उनको सेख करने की इछ्छा बहुत होती है और अगर वह सेक्स नही करते है तो वे दिन भर इसी बात को लेकर उत्तेजित रहते है और उनसे कभी कभी दूसरी महिलाओ के साथ या पुरूषो के साथ बेशर्मी भी करनी पड़ जाती है /

जिसे यह सब होता है चाहे वह महिला हो या पुरुष दोनो ही यह समझते है कि उनकी सेहत बहु अच्छी है इस कारण से होता होगा लेकिन कुछ ऐसे भी मरीज आये है जिनकी सेहत बहुत अच्छी नही थी लेकिन उनको भी इसी तरह की अति कामुकता की शिकायत थी /

अतिकामुकता यानी  excessive sexual desire  शारीरिक  और मानसिक दोनो ही कारणो से होती है /

कुछ रोगियो के विवरण नीचे दिये जा रहे है /

१- सन १९८४ का वक्या है / एक तोगी को अति कामुकता की शिकायत थी / वह मेरे दवाखाने मे आया / उसको देखने से मेरा ओब्शाजर्रीवेशन यथा कि वह रिक रूप से यह रोगी बहुत कमजोर था / गाल पिचके हुये और मरियल सा शरीर लिये हुये बिल्कुल जानी बाकर की तरह का दुबला पतला और कमर लचका कर चलने वाला जैसा  था / इसकी एक किराना का सामान बेचने वाली दूकान थी जिसका वह व्यापार करता था / उसने बताया कि उसको सेक्स करने की हर समय इछ्चा होती है और वह इसे नही रोक पाता है /  मैने उससे कुछ सवाल पूछे / मेरी समझ मे कुछ बाते आयी कि शाय्द testicular excited stage हो या   sex hormones  कुछ अधिक acivated  हो /  Provisional diagnosis  मे बहुत सी बाते आयी / यह तय किया कि इसको ल्क्षणानुसार इलाज दिया जाये  / ईस समय ETG AYURVEDASCAN TECHNOLOGY  बह्त विकसित नही थी / उसको आयुर्वेदिक द्वा के साथ साथ कुछ होम्योपैथिक की भी द्वाये दी और इस तरह काम्बिनेशन ट्रीट्मेन्ट दिया गया और इसकी व्यवस्था की गयी /  लगभग तीन हफ्ते के बाद का समय होगा उसके पेट से लम्बे लम्बे ASCARISES WORMS  बड़ी सन्ख्या मे पहले दिन निकले फिर कुछ कम सन्ख्या मे दूसरे दिन और तीसरे दिन एक मरा हुआ बहुर छोटा सा केचुये जैसा कीड़ा निकला /

WORMS  निकल जाने के कुछ दिन बाद उसका अति कामुकता का प्रभाव समाप्त हो गया और वह सामान्य जीवन की राह पर आ गया /

२- यह एक महिला का केस है / सन २००७ मे इस महिला ने जो दिखने मे सामान्य लगती थी मेरे दवाखाने  मे अपने पति के साथ आयी थी / उसे अति कामुकता की शिकायत थी / उसे आये हुये एक या दो मिनट बीते होन्गे वह अपने पति के ऊप्रर मेरे सामने दवाखाने  की मरीजो के बैठने के लिये रखी गयी  बेन्च पर पति से चिपट गयी और अपनी धोती उठाकर अपनी योनी अपने पति की टान्गो मे जोर जोर से   रगड़ने लग गयी / महिला बहुत  ताकतवर थी /  अचानक यह सब जैसे ही हुआ मै समझ नही पाया कि क्या यहा पर हो रहा है  , यह मै भी नही समझ पाया / गनीमत थी कि उस  समय दूसरा कोई ्मरीज नही था / मैने  तुरन्त उठक्रर  पति के ऊपर चढ गयी  उस महिला को अलग किया / वह महिला मेरे ऊपर बहुत तमतमाई लेकिन मैने उसको बहुत तेजी से फटकार लगायी और इस तरह की बेशर्मी के लिये लानत और मलामत की /

अगले क्षण महिला रोने लगी / मैने उसके पति से पूछा की क्या बात है ? पूरी बात मय सवाल जवाब के  करने के बाद अन्त मे यह पता चला कि महिला को अति कामुकता की बीमारी है /

महिला का ई०टी०जी०  आयुर्वेदास्कैन  परीक्षण किया गया  / इसके दूसरे अन्य परीक्षण किये गये /  परीक्षण करने के बाद इस महिला के कई anomalies  निकली जो उसके कई सिस्टम के  pathphysiological  phenomenon  के  बिगड़ने के कारण उतपन्न हुआ था /

महिला को Reproductive organs तथा Hormonal system और autonomic nervous system  और circulatory systems  की  homoestatic organic   शिकायत निकली /

इन सारी बीमारियो का एक साथ इलाज किया गया क्योन्कि आयुर्वेद अथवा होम्योपैथी अथवा यूनानी अथवा योग अवम प्राकृतिक चिकित्सा मे शरीर की सभी बीमारियो का एक साथ इलाज करने का प्रावधान है और यही concept  आयुष इलाज को खूब्सूरत और बेहतर बनाता है /

महिला १२० दिन के इलाज से ठीक हो गयी और उसके बच्चे नही थे / एक साल बाद उसको एक बच्ची का जन्म हुआ /

अब यह महिला बिल्कुल स्वस्थ्य है /

इस तरह के   रोगियो की तादाद बहुत है लेकिन यह सब लोक लाज के भय से सामने नही आ पाता है, इसलिये मेरा यही ऐसे लोगो को सन्देश देना है कि वे अगर अति कामुकता के रोगी है तो फिर वे इसका इलाज कराये /

“अति कामुकता ” का इलाज आयुर्वेद  चिकित्सा विग्यान  के  द्वारा कराने से अवश्य और शत प्रतिशत ठीक होता है /

ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन और आयुर्वेद के अन्य परीक्षण के करने के बाद प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर अति कामुकता का इलाज करने से चाहे जैसी बीमारी हो सभी ठीक होती है /

8 001

 

Advertisements

2 टिप्पणियाँ

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s