महीना: मार्च 2016

SLEEPLESSNESS AND INSOMNIA AND SLEEP DISTURBANCES ; AYURVEDA AND AYUSH TREATMENT CURES


neend na aana

SLEEP DISTURBANCES ARE CURABLE ALMOST COMPLETELY BY E.T.G. AYURVEDASCAN BASED AYURVEDA HOMOEOPATHIXC AND UNANI COMBINATION TREATMENT.

नींद आना एक स्वस्थ्य ब्यक्ति को कुदरत द्वारा दिया गया अन्मोल उपहार है / नींद के द्वारा ही शरीर को रेलैक्स मिलता है और शरीर के पूरी तरह आराम करने के बाद ही जब व्यक्ति पूरी तरह सोने के बाद जगता है तब वह अपने अन्दर स्फूर्ति का सन्चार महसूस करता है / नींद से शरीर की सभी अन्ग और मन तथा मानसिक स्तिथि मे सामान्यता आती है /

इसके विपरीत नींद के न आने से या नींद मे बाधा होने से शरीर और मानसिक असन्ख्य बीमारिया पैदा हो जाती है और तरह तरह के लक्षण पैदा होते है /

आयुर्वेद मे नींद के न आने का उपचार बहुत सटीक और अचूक है / इसका कारण यह है कि आयुर्वेद यह पहले पहचान करता है कि नींद न आने के क्या कारण है जो रोगी के अन्दर मौजूद है / जिन कारणो से नींद मे बाधा आती है वही कारण दूर करने से नींद न आने की समस्या का हल होता है /

आयुर्वेद मे नींद न आने का अफल उपचार है / आयुर्वेद की आधुनिक टेक्नोलाजी ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन जान्च आधारित इलाज से सभी प्रकार के अनिद्रा रोगो का इलाज सफलतापूर्वक किया जा सकता है /

आयुर्वेद मे नींद न आने की समस्या का समाधान स्थायी रूप मे होता है /

bhut001

प्रोस्टेट के साइज का बढना या प्रोस्टेट से सम्बन्धित सभी प्रकार की बीमारियो का इलाज आयुर्वेद और आयुष चिकित्सा द्वारा सम्भव


PROSTATE001

प्रोस्टेट यानी पौरुष ग्रन्थि शरीर का एक बहुत ही महत्व पूर्ण अन्ग है जैसे कि शरीर के दूसरे अन्ग है / यह ग्रन्थि केवल पुरुषो मे ही पायी जाती है और इस ग्रन्थि को महिलाओ मे कतई नही पाया जाता है /

इस ग्रन्थि के बहुत से कार्य है जो मुख्य तौर पर नीचे लिखे जा रहे है /

१- यह सेक्स अन्गो से सम्बन्धित कार्यो को सपोर्ट करता है और किसी काम मे सीधे सीधे या अनुपूरक कार्य के तौर पर सहायक कार्य करता है
२- ्वीर्य मे स्तिथि कीटाणुओ को सुरक्षित करने मे मदद करता है
३- सेक्स अन्गो को वीर्य निकलने के समय की तेजी को अपने प्रभाव से कम करता है
४- इसका आकार बढने से पेशाब की नली मे दबाव बढता है जिसके कारण पेशाब करने मे जलन होने लगती है और पेशाब रुक जाता है
५- इस ग्रन्थी का आकार बढने से हाई ब्लड प्रेशर मे २० प्रतिशत तक की बढोतरी हो सकती है

image001 001

यह ग्रन्थी हारमोनल चैनल को नियन्त्रित करती है इसलिये इसका महत्व बहुत है /

आयुर्वेदिक अथवा आयुष इलाज कराने से PROSTATE GLANDS का आकार और इससे समबन्धित सभी तरह के रोग दूर होते है /

आयुर्वेद चिकित्सा विग्यान और homoeopathic और यूनानी चिकित्सा विग्यान मे प्रोस्टेट का इलाज सम्भव है /

H.I.V. CAN BE CURED BY AYURVEDA AYUSH SYSTEM OF THERAPEUTICS TOTALLY AND 100 PERCENT


HIV , which is a dreaded disease condition can be totally cured by AYURVEDA and AYUSH system of therapeutics.

In our research center we have been cured many HIV cases by Ayurveda and Ayush combination remedies according to their findings which we approached by ETG AyurvedaScan system.

We have evidences in large numbers that Ayurvedic and Ayush remedies are very beneficial in treatment of HIV. We select remedies on the basis of AyurvedaScan findings and further monitor the patient condition by PATHOLOGICAL INVESTIGATIONS of Medical sceinces. We suggests patient to examine their blood accordingly, which they have previously done and take regular Ayurvedic remedies and review time to time.

We have find that patient progresses slowly and gradually and got complete cure within six months in some cases, otherwise take a few months for complete recovery.

The problem with us that cured patient does not want to share their cure history before camera and they avoid their identity. None of patient is eager to come before camera or for live interview.

Therefore we here load the pathological examination report with comparison to previous once.

We have observed that newly infected cases cures rapidly while old once takes some time to complete recovery but one thing is noted that cure is assured.

However we can say confidently that Ayurveda have a complete cure for this disease condition.

8 001