SLEEPLESSNESS AND INSOMNIA AND SLEEP DISTURBANCES ; AYURVEDA AND AYUSH TREATMENT CURES


neend na aana

SLEEP DISTURBANCES ARE CURABLE ALMOST COMPLETELY BY E.T.G. AYURVEDASCAN BASED AYURVEDA HOMOEOPATHIXC AND UNANI COMBINATION TREATMENT.

नींद आना एक स्वस्थ्य ब्यक्ति को कुदरत द्वारा दिया गया अन्मोल उपहार है / नींद के द्वारा ही शरीर को रेलैक्स मिलता है और शरीर के पूरी तरह आराम करने के बाद ही जब व्यक्ति पूरी तरह सोने के बाद जगता है तब वह अपने अन्दर स्फूर्ति का सन्चार महसूस करता है / नींद से शरीर की सभी अन्ग और मन तथा मानसिक स्तिथि मे सामान्यता आती है /

इसके विपरीत नींद के न आने से या नींद मे बाधा होने से शरीर और मानसिक असन्ख्य बीमारिया पैदा हो जाती है और तरह तरह के लक्षण पैदा होते है /

आयुर्वेद मे नींद के न आने का उपचार बहुत सटीक और अचूक है / इसका कारण यह है कि आयुर्वेद यह पहले पहचान करता है कि नींद न आने के क्या कारण है जो रोगी के अन्दर मौजूद है / जिन कारणो से नींद मे बाधा आती है वही कारण दूर करने से नींद न आने की समस्या का हल होता है /

आयुर्वेद मे नींद न आने का अफल उपचार है / आयुर्वेद की आधुनिक टेक्नोलाजी ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन जान्च आधारित इलाज से सभी प्रकार के अनिद्रा रोगो का इलाज सफलतापूर्वक किया जा सकता है /

आयुर्वेद मे नींद न आने की समस्या का समाधान स्थायी रूप मे होता है /

bhut001

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s