कनक पालीथेरेपी क्लीनिक एवम रिसर्च सेन्टर कानपुर,उत्तर प्रदेश, भारत का आयुर्वेद और आयुष काम्बीनेशन थेरेपी की सुविधा प्रदान करने वाला विश्व के सबसे पहले अस्पताल का निर्माण कार्य का शुक्ला गन्ज, राजधानी राजमार्ग, उन्नाव, उत्तर प्रदेश, भारत मे निर्माण कार्य शुरु / आयुर्वेद और आयुष की निदान ग्यान की हाई टेक्नोलाजी ; ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन और रिसर्च सेन्टर द्वारा अन्वेषित की गयी अन्य आयुर्वेद -आयुष मशीनो द्वारा रोग निदान और रोगो के उपचार की विधियो का काम्बीनेशन उपचार कराने की व्यवस्था सम्भव होगी


करीब करीब मुझे चिकित्सा का काम करते करते यानी डाक्टरी का कार्य करते करते ५० साल पूरे हो चुके है /

इन पचास सालो मे मैने सभी चिकित्सा पध्ध्यतियो का उत्थान और बदलाव बहुत नजदीक से देखा है / मैने दूसरे नामी गिरामी डाक्टरो के केसेस और अपने  डाक्टर  मित्रो के केसेस और उन साधारण डाक्टरो के केसेस और विशेश्ग्य डाक्टरो के केसेस और फिर  अपन केसेस को लेकर बहुत कुछ समझा है और बहुत कुछ जाना है और सीखने को मिला /

मेरे पिता जी डा० सीतला सहाय बाजपेयी वैद्य  [स्वर्गीय] आयुर्वेद और होम्योपैथी दोनो ही चिकित्सा विधियो के प्रैक्टीशनर थे / बचपन से मै उनको मरीजो को समझाते हुये सुनता था जब वह यह बताते थे कि उस मरीज का इलाज होम्योपैथी से करना अच्छा होगा या आयुर्वेद से अथवा दोनो के मिले जुले इलाज से /

उस जमाने मे ्मैने निखिल भारतवर्षीय  आयुर्वेद महासम्मेलन , दिल्ली से वैद्याचार्य [आयुर्वेदाचार्य] की परीक्षा और  होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड, लखनऊ, उत्तर प्रदेश से BACHELOR OF MEDICINE AND SURGERY  की  डिग्री प्राप्त करके  मैने प्रक्टीस शुरु की /

१९७३ मे मै म्यूनिख, जरमनी चला गया जहा मैने KRANKENHAUS  FUER NATURHEILWEISSEN, sanatorium plaz 2, HARLACHING, 8 MUNCHEN, DEUTCHLAND  मे होम्यो पैथी और अन्य दूसरी चिकिसा पध्ध्यतियो का विस्तार से अध्ध्य्यन किया /

 

OLYMPUS DIGITAL CAMERA

डा० देश बन्धु बाजपेयी अपनी पत्नी श्री मती मनोरमा बाजपेयी के साथ भूमि पूजम की तैयारिया करते हुये / पीछे डा० बाजपेयी की पोती सुदीक्षा बाजपेयी कुछ निहारती हुयी  OLYMPUS DIGITAL CAMERA

 

OLYMPUS DIGITAL CAMERA

भूमि पूजन करते हुये डा० डी०बी० बाजपेयी OLYMPUS DIGITAL CAMERA

एक मेडिकल आब्जर्वर की तरह मै सब तरह के केसेस देखत रहता था और उनकी चिकित्सा के बारे मे सन्ग्यान लेता रहता था / धीरे धीरे मेरी आदत बन गयी और मुझे यह पता चलने लगा कि किस बीमारी का इलाज किस चिकित्सा पध्ध्यति मे बेहतर है और किसमे नही है /

जरमनी मे जिस अस्पताल मे मै होम्योपैथी का अध्ध्यन कर रहा था वह जरमनी का सर्व्श्रेष्ठ अस्पताल था / वहा का माहौल देखकर मै अश्चर्य से भर गया क्योन्कि उस तरह की चिकित्सा सुविधा अपने देश मे देखने को कही भी नही मिली थी / उअस समय का यही हाल था /

इस अस्पताल मे होम्योपैथी के अलावा , प्राकृतिक चिकित्सा और  यूरोप मे पायी जाने वाली कुछ हरबल  का उपयोग के अलावा एलोपैथी की दवाओ का भी उपयोग करते थे / इस तरह के काम्बीनेशन इलाज को देखने और समझने का मुझे बहुत नज्दीक से मौका मिला / बाद मे वहा साथ मे काम करने और पढने वाले डाक्टरो के साथ काम करने के दर्मियान बातचीत करने  मे पता चला कि इसके पीछे का दर्शन क्या है /

Krankenhause fuer Naturheilweissen, sanatirium plaz 2, 8000 MUENCHEN, Germany  मे ऐसी काम्बीनेशन चिकित्सा को देखकर और इसके गुणकारी प्रभाव को देखकर मेरा मन बहुत प्रभावित हुआ और मेरे मन मे यह कल्पना जागी कि अगर इसके साथ आयुर्वेद और यूनानी का भी समिष्रण कर दिया जाय तो सोने मे सुहागे का काम हो जायेगा / क्योन्कि उन देशो मे आयुर्वेद और यूनानी की चिकित्सा नही है  और इन चिकित्सा विधियो को जोड़्कर अच्छे रिजल्ट्स प्राप्त किये जा सकते है / ऐसी क्लपना मेरे मन मे थी /

SANATORIUM PLAZ  [ Sanotorium Place सैनेटोरियम प्लेस] नाम की यह जगह म्यूनिख शहर से १५ किलोमीटर के लगभग होगी / यहा AUTO BAHN यानी मेट्रो रेलवे चलती है और यह स्टेशन का नाम भी है जहा मेट्रो रुकती है / यह जगह ISSAR  RIVER  के किनारे बनाय गया है जहा कई अस्पतालो की बिल्डिन्ग है जैसे बच्चो का अस्पताल, प्रसूति का अस्पताल, जनरल अस्पताल, विशेषग्यो का अस्पताल, सर्जरी का अस्पताल और अन्य बीमारियो के इलाज के लिये अस्पताल का समूह बना हुआ है / इन अस्पतालो के बीच मे एक हैलीपैड बना हुआ है जहा दूर दराज के मरीजो को एयर लिफ्ट करके अस्पतालो मे चिकित्सा के लिये लाते है / इस हैलीपैड को देखकर मुझे बहुत ताज्जुब हुआ /

अब मुझे मौका मिला है और मै काम्बीनेशन थेरापी को बढावा दे रहा हू और इसक फायदा रोगियो को देना चाहता हू और वह भी बहु वैग्यानिक दृष्टिकोण के साथ और पूरी लाजिक के साथ जिसमे आधुनिक चिकित्सा बिग्यान और अर्वाचीन चिकित्सा विग्यान दोनो का सम्मिश्रण हो / मै पिछले ५० साल से काम्बीनेशन चिकित्सा करता चला आ रहा हू और इसके रिजल्ट बहुत प्रभाव कारी साबित हुये है /

डी०बी० पैलेस के बगल मे , बाजपेयी हाता- भाग-ब, शुक्लागन्ज, कानपुर-लखनऊ राजधानी राजमार्ग, जनपद उन्नाव ्मे इसी भावना और उद्देश्य के साथ कनक पालीथेरापी क्लीनिक और रिसर्च सेन्टर अस्पताल का निर्माण कराया जा रहा है जहा सभी बीमारियो के काम्बीनेशन इलाज कराने आने के लिये रोगियो के ठहरने की व्यवस्था और उनके लिये वे सभी सुविधाये उपलब्ध करायी जायेन्गी जिन्को रोग और रोग के उपचार के लिये आवश्यक है जैसे सभी चिकित्सा विग्यान की दवाओ, रोग की चिकित्सा और निदान ग्यान के लिये उपलब्ध उपकरण , पन्चकर्म, फीजियोथेरपी, मैगनेट थेरापी, इलेक्ट्रोथेरापी, योग और प्राकऋतिक चिकित्सा आदि आदि सभी सुविधाओ की उपलब्ध्ता मरीजो को प्राप्त होगि, ऐसा हमारा सन्कल्प और उद्देश्य है /

चिकित्सालय परिसर मे भगवान धनवन्तरि देव और माता महालक्षमी की मूर्ति की स्थापना एक नये मन्दिर मे तथा पुराने शिव मन्दिर का जीर्णोध्धार कराने का सन्कल्प भी है जिससे मानसिक रोगियो की चिकित्सा मे आयुर्वेद मे वर्णित विधियो का उपयोग मानसिक विकारो के उपचार के लिये किया जा सके /

अभी निर्माण कार्य चल रहा है / जैसे ही अस्पताल का काम शुरू होगा आप सभी लोगो को इसकी सूचना दी जायेगी /

 

 

 

2 टिप्पणियाँ

  1. आदरणीय अन्वेषक जी, यह कार्य प्रारम्भ करवा करके आपने ईटीजी और आयुर्वेद के लिये एक मील का पत्थर स्थापित किया है/आपकी लगनशीलता कछुये वाली कहानी के दृष्टांत को साबित कर रही है/इस पुनीत कार्य के लिये आपको लाख-२ बधाईयॉं और आपके परिवारीजनो को उनके सतत स्नेह और सहयोग के लिये हार्दिक अभिनन्दन

    ………….डा० डी०बी० बाजपेयी का उत्तर ………..बधाई इस बात की मै आप्को देता हू कि आप वह पहले व्यक्ति है जिन्होने इस कार्य को करने मे उत्साहित होकर सबसे पहले मुझको बधायी देकर मेरा काम करने का हौसला और अधिक बढा दिया /

    सबसे पहले बधायी देने के लिये मै आप्को हमेशा याद करून्गा क्योन्कि पहला वय्क्ति ही हरेक को याद हमेशा याद रज्ता है /

    आप जैसे ग्यानी और विद्वान पाठको के कारण ही इस ब्लाग की विजिट सन्ख्या कुछ महीनो मे एक करोड़ का आन्कडा पार कर लेगी /

    आपने एक महत्व [पूर्ण सुझाव दिया था कि ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन तकनीक का विस्तार देश और विदेश के अन्य शहरो मे किया जाना चाहिये / ऐसा अपने किसी कमेन्ट मे लिखा है / आप्के सुझाव को ध्यान मे रख कर हमारा प्रयास चालू है कि शीघ्र से शीघ्र ई०टी०झी० आयुर्वेदास्कैन की फ्रेन्चायजी देश के हर राज्य के हर जिलो मे परीक्षण केन्द्र खोले जाय /

    समय का इन्तजार करे आपके सुझाव पर हमारा अमल करने का प्रयास जारी है /

  2. Namaste sir mere body me bahut heat banti h jis karan meri maspesio me mere sir me puri body me dird hota h ankh gal lal ho jate h dhoop me body kapne lajti h m bhut kamjor ho gya hoo wajan to kafi h lekin stemina nhi h bhut ilaj krya lagbhg panch sal ho gye h

    ——- REPLY ——-

    YOUR MENTIONED DISEASE CONDITION IS CURABLE BY OUR LATEST INVENTED METHODS OF AYURVEDA DIAGNOSIS BY HI-TECHNOLOGICAL MACHINES AND AYURVEDA AND AYUSH COMBINATION TREATMENT AND AYURVEDA MENTIONED LIFE STYLE MANAGEMENT PROCEDURE’S ADOPTIONS.

    ETG AYURVEDASCAN PARIKSHAN KARAKAR AYURVEDIC / AYUSH YANI AYURVEDA AUR HOMOEOPATHY AUR UNANI AUR YOGA PR——-AKRATIK CHIKITSA KA MILAJULA ILAJ KARANE SE SABHI TARAH KE ROG JINAKO LAILAJ BATA DIYA GAYA HO YAH SABHi AVASHY THIK HOTE HAI.

    See interview of cured patients and lectures on ETG AyurvedaScan technology. You can talk and conversation directly to patient by logging at our account at below ;
    http://www.youtube.com\drdbbajpai

    For Appointment and Fees and charges;
    ask Directly to Dr. A.B. Bajpai , Assistant to Dr. D.B.Bajpai and ETG AyurvedaScan Specialist Mobile no: 08604629190 Morning – 9 to 10 AM and Evening 7 to 8 PM
    अगर इलाज कराने के लिये APPOINTMENT और इलाज कराने की फीस के बारे मे जानकारी लेना चाहते है तो नीचे लिखे मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क करें /08604629190
    PATIENTS FROM OTHER COUNTRIES / NEIBOURING States & COUNTRIES / OUT SIDE INDIA / CONTINENT’S CITIZENS / OVERSEAS SICK PERSONS , who want our treatment for any disorders, should contact Dr. D.B. Bajpai by e-mail because telephonic contacts / telephonic talks / telephonic conversations are not possible for us. E-mail; drdbbajpai@gmail.com
    हमारे यहां से ठीक हो चुके रोगियो और ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन टेक्नोलाजी के बारे मे जानकारी चाहते है तो आप हमारे नीचे लिखे यू ट्यूब एकाउन्ट मे लाग आन करे / आप हमारे द्वारा ठीक किये जा चुके मरीजो से सम्पर्क कर सकते है /
    http://www.youtube.com\drdbbajpai
    you can go for more details about our activities at log on
    http://www.ayurvedaintro.wordpress.com

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s