महीना: मार्च 2017

E.T.G. AyuurvedaScan information presented by Dr. D.B.Bajpai


Ayurveda technology ETG AyurvedaScan which is the only hi-technology approved by the Government of India, comes under Right to information, is elaborating by Dr DBBajpai the inventor of the technology and Chief ETG AyurvedaScan Investigator..

Advertisements

FREE e-BOOK DOWNLOAD ; TITLE ; आयुर्वेद के मौलिक सिध्धान्तो का ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित अध्ध्य्यन और वैग्यानिक विवेचना ; IN HINDI LANGUAGE ; FIRST EDITION 2017


We are offering free e-book on ETG AyurvedaScan technology with the commentary on the Ayurveda Principles in view of scientific evaluation’s correlation, written and compiled by Dr. D.B.Bajpai, the inventor of ETG AyurvedaScan technology.

You can find the book in PDF form from the below links ;

The book is free for distribution and can be download by any one who wish to read the book. The book is in the Hindi Language and in easy Hindi explanations.

An English version of the same book will be available soon and preparations are being made to bring the same as soon as possible.

”आयुर्वेद सिध्धान्तों का आधुनिक हाई टेक्नोलाजी इलेक्ट्रो त्रिदोष ग्राफ ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित वैग्यानिक अध्ध्य्यन” शीषक से डा० देश बन्धु बाजपेयी द्वारा लिखी गयी पुस्तक आयुर्वेद के मौलिक सिध्धान्तो और आधुनिक चिकित्सा विग्यान के अलावा अन्य दूसरे विग्यान को लेकर समवयन करते हुये आयुर्वेद के सिध्धान्तो का विवेचन किया गया है /

प्रस्तुत पुस्तक मे आयुर्वेद का वैग्यानिक स्वरूप को बताया गया है कि किस प्रकार से आयुर्वेद के विद्वानो यथा चरक और सुश्रुत और अन्य विद्वानों ने हजारो साल पहले से इन्फ्रास्ट्रक्चर न होने के बावजूद उनके पास जिस तरह के साधन थे उनका उप्योग करते हुये इन विद्वानो ने आयुर्वेद के सिध्धान्तों की रचना की और उनका मूल रूप बताया / आधुनिक आयुर्वेद की टेक्नोलाजी ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन के आविष्कार के बाद अब आयुर्वेद के सिध्धान्तो का वैग्यानिक स्वरूप सामने आ गया है /

इस पुस्तक मे डा० डी०बी० बाजपेयी ने आयुर्वेद के आधुनिक स्वरूप का अध्ध्य्यन ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन तकनीक के साथ लेकर आयुर्वेद के सिध्धान्तो को वैग्यानिक स्वरूप देने का प्रयास किया गया है /

पुस्तक का यह प्रथम सन्सकरण आयुर्वेद के प्रेमियो और विद्यार्थियो और गुरुजनो के लिये नि:शुल्क उपलब्ध है / आप सभी पाठक जन निम्न यू०आर०एल० पर जाकर पुस्तक को डाउन-लोड करे और पाठ करे /

https://www.slideshare.net/drdbbajpai/documents/आयुर्वेद सिध्धान्तों का आधुनिक हाई टेक्नोलाजी इलेक्ट्रि त्रिदोष ग्राफ ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन आधारित वैग्यानिक अध्ध्य्यन

आप सभी पाठको के सुझाव और आलोचनाये स्वीकार है /

आप अपने सुझाव और आलोचनाये हमारे ई-मेल पर भेज सकते है , आपका सहर्ष स्वागत है /

e-mail; drdbbajpai@gmail.com