राज यक्षमा ; ट्यूबरकुलोसिस पल्मोनरी ; फेफडे की टी०बी० ; आयुर्वेदिक इलाज टिप्स


राज यक्ष्मा यानी टी०बी० यानी ट्यूबरकुलोसिस के बारे मे डा० देश बन्धु बाजपेयी अपने अनुभव आप सब से शेयर कर रहे है और इस बीमारी के इलाज के बारे मे इस वीडियो मे बता रहे है /

आयुर्वेद इलाज से यह बीमारी ठीक होती है और जिनको रेजिस्टेन्स हो गयी हो उनको आयुर्वेदिक इलाज साथ साथ करना चाहिये / इस बारे मे आप अपने जिस शहर मे रह रहे है वही किसी आयुर्वेद के डाकटर से सम्पर्क करें और इलाज शुरू करे /

इस वीडियो मे बतायी गयी आयुर्वेदिक दवाये और दूसरे नुस्खे केवल जानकारी के लिये है / इन नुस्खों के सेवन से किसी तरह की हानि होने की सम्भवना नही के बराबर होती है लेकिन टी०बी० जैसे रोगो का इलाज अगर सिध्ध हस्त चिकित्सक के द्वारा या चिकित्सक की देखरेख मे किया जाय तो सबसे अच्छा और बेहतर होगा, इसलिये किसी चिकित्सक से सलाह ले, यह श्रेष्ठ कात्य होगा /

आयुर्वेद की आधुनिक तकनीक ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन और आयुर्वेद की रक्त और मूत्र की जान्च करने के बाद अगर इलाज किया जाय तो इलाज अधिक सटीक और प्रभावकारी होता है /

हमारा पता है ;

सम्पर्क व्यक्ति ; डा० ए०बी०बाजपेयी मोबाइल नम्बर 8604629190
कनक पालीथेरापी क्लीनिक एवम रिसर्च सेन्टर,
67/70, भूसाटोली रोड, बर्तन बाज़ार, कानपुर, उत्तर प्रदेश, भारत

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s