एच०आई०वी० रोग का आयुर्वेदिक इलाज

TWO CASES OF H.I.V. INFECTED PATIENT TREATED BY OUR CENTER ; SEE THEIR REPORTS AND PROGRESS TOWARDS CURE ; एच० आई० वी० सन्क्रमण के दो रोगी जिनका आयुर्वेदास्कैन आधारित आयुष और आयुर्वेद का इलाज किया जा रहा है ; ये किस तरह ठीक हो रहे है इनके रिपोर्ट देखिये


एच०आई०वी० के रोगियों का हमारे केन्द्र मे इलाज किया जा रहा है /In our outdor hospital, we are treating H.I.V. infected patients by AYURVEDA AND AYUSHA AND ALLIED METHODS OF TREATMENT SYSTEMS.

नीचे एक पुरुष की रिपोट दि गयी है / यह उस समय की जान्च रिपोर्ट है जब मरीज पहली बार हमारे यहा इलाज के लिये आया था /Below is given two patients progress reports, who are treated by our center and the patient came before 8 months for treatment purposes at our center.

मरीज का इलाज १२० दिन तक करने के बाद उसका दुबारा एच०आई०वी सन्क्रमण का लेवल जान्चने के लिये परीक्षण कराया गया जिसकी रिपोर्ट नीचे दी गयी है / दोनो रिपोर्ट को देखिये और बीमारी मे आये हुये परिवर्तन को देखिये /After 120 days of Ayurveda Treatment, the same examination were done again and the progress can be seen in the report that parameters are touches normal level slowly and gradually.

[२]

दूसरा केस एक महिला का है जिसको अपने पति से एच०आई०वी० का सन्क्रमण हो गया था / इस महिला का इलाज करने के पहले का जान रिप्र्ट नीचे दिया गया है /This is the second case of HIV infected patient who is female.The report is at the time of the start of AYURVEDA AND AYUSH   treatment . See and observe below given report.

 

इस महिला का आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक और यूनानी के अलावा प्राक्रतिक और योग के साथ काम्बीनेशन / इन्टीग्रेटेद दवाओ और मैनेज्मेन्ट के द्वारा १२० दिनों तक किया गया / इसके बाद इसकई दुबारा जान्च करायी गयी /A combination / integrated Ayurveda and Ayush treatment and management were given to this lady patient for 120 days.

दुबारा जान्च करने की रिपोर्ट आप सभी के सामने है /After a primery course of Ayurveda – Ayush treatment of 120 days the patient was suggsted to go for the screening of the same test which have been done earlier.

दोनो रिपोर्त को देखिये और आयुर्वेद चिकित्सा पर भरोसा करिये कि किस तरह से ऐसी लाइलाज बीमारियो का इलाज सम्भव है /See and observe the both reports and see the changes towards the normal parameters.

We have always conveys to the medical fraternity that Combination / Integrated system of medical sciences, whether they are called complementary or other as per their own public, the treatment of the dreaded diseases are possible by Ayurveda / Ayush bases on the findings of ETG AyurvedaScan system along with other allied examinations.

 

 

………..

WE PROVIDE AND SUGGESTS  WORLD CLASS SPECIALTY OF AYURVEDA AND AYUSH BASES DIAGNOSIS AND TREATMENT AND MANAGEMENT AT OUR CENTER

Advertisements