E.N.T. AYURVEDA AYUSH TREATMENT AND DIAGNOSIS

DISORDERS OF EYES AND EAR AND INTERNAL THROAT AND NOSE AND ALLIED PARTS ; उर्ध्व जत्रु रोग यानी गले ऊपर के अन्गो के रोगो का आयुर्वेदिक और अयुष इलाज


उर्ध्व जत्रु  रोग यानी ई० एन० टी० यानी आन्ख, नाक , कान और इन्से सम्बन्धित रोगो का आयुर्वेदिक और आयुष इलाज सम्भव है और बहुत सटीक स्तर का होता है जो अन्य चिकित्सा विधियो मे नही है /

OLYMPUS DIGITAL CAMERA

आन्ख की तकलीफो का इलाज कुछ बीमारियो जैसे आन्खो का लाल रहना इसे कन्जन्क्टिवाइटिस भी कहते है /कन्जन्क्टीवाइटिस सैकड़ो और हजारो तरह की होती है / यह तरह तरह की डायग्नोसिस के ऊपर आधारित होती है / लेकिन मूल और रूट लेवेल  पर इसे कन्जन्क्टीवाइटिस ही कहते है / आन्ख की भी तरह तरह की बीमारिया होती है और अधिकान्श बीमारियो का इलाज आयुष चिकित्सा मे है /

OLYMPUS DIGITAL CAMERA

इसी तरह कान की बहुत सी बीमारियो का बहुत सटीक इलाज है जैसे कान बहना , कान से मवाद आना , कान से सुनाई न पड़ना, आवाज का गायब हो जाना, कान मे अवाज की सिन्सिटीविटी बढ जाना, तरह तरह की कान मे आवाजे आना यह सब आयुष चिकित्सा से ठीक हो जाता है /

OLYMPUS DIGITAL CAMERA

नाक की बीमारिया जिनमे सायनुसाइटिस से लोग सबसे ज्यादा परेशान होते है या पुराना न ठीक होने वाला जुखाम या बार बार सर्दी लग जाना , गला खराब रहना, गले की आवाज का बन्द हो जाना , गले की तरह तरह की बीमारियो का आयुश चिकित्सा मे बहुत अच्छा है और इसे लोगो को आजमाना चाहिये/

हर्ष की बात है कि आयुर्वेद की आधुनिक उच्च  तकनीक     ई०टी०जी० आयुर्वेदास्कैन और इसके अन्य वर्जन के परीक्षण कराने के बाद प्राप्त डाय्ग्नोसिस रिपोर्ट पर आधारित इलाज कराने से आन्ख, नाक, कान, गला और गले से ऊपर के सन्ही रोगो का इलाज करने मे सअलता मिलती है /

Advertisements