EARLIER SIGN AND SYNDROMES OF KIDNEY FAILURE

EARLIER SIGN AND SYNDROMES OF KIDNEY FAILURE AND INCREAMENT OF CREATININE LEVEL ; किडनी अथवा गुर्दा के काम मे फेल होने के पूर्व सन्केत


P6100463.JPGगुर्दा अथवा किडनी के काम करने से फेल होने के सन्केत शरीर मे पहले से ही  पैदा होने लगते है / इन सान्केतिक लक्षणो को देखकर और पहचान कर गुर्दा के फेल होने के रोगो का पता चल जाता है /  गुर्दा के रोगो का सही समय पर पहचान होने पर और तत्काल उसका उपचार करने पर गुर्दा के रोगो से बचाव किया जा सकता है  और जीवन को लम्बे समय तक बचाया जा सकता है /

OLYMPUS DIGITAL CAMERA

गुर्दा / किडनी के रोगियो का रोग इतिहास ग्यात कर लेने के बाद कुछ आवश्यक बाते यानी साइन और सिन्ड्रोम्स का पता चला है जिनसे यह अन्दाजा लग जाता है कि व्यक्ति का गुर्दा खराब होने की तरफ जा रहा है /

नीचे लिखे गये कुछ आबर्जर्वेशन से गुर्दा फेल होने के रोग का अन्दाजा किया जा सकता है /

१- गुर्दा का रोग होने के कई माह पहले सुबह और शाम और रात देर तक व्यक्ति को लगता है कि उसे हल्का बुखार सा है /

२- इस बुखार के साथ साथ व्यक्ति को लगता है कि उसकी  खाने की इच्छा और भूख कम हो रही है /

३- व्यक्ति को भोजन न हजम होना, खट्टी डकारो का आना , पेट मे तेजाब का अधिक बनना आदि अपचन के लक्षण पैदा हो जाते है / इन लक्षणो को रोगी समझता है कि उसे खाना न हजम होने की तकलीफ पैदा हो रही है और वह अपचन का इलाज करने लगता है /

P6100464.JPG

४- देह मे दर्द , मान्श्पेशियो मे दर्द , चलने मे जल्दी थकावट आ जाना , सान्स फूलना , सुबह सोने के बाद मुख के स्वाद मे कड़वा पन और कसैला पन जैसे गोमूत्र का स्वाद हो अथवा यूरिया के स्वाद का आभास होना जैसे लक्षण पैदा हो जाते है /

[अभी मैटर लोड करना बाकी है ]

 

 

 

 

 

Advertisements